कार्यकर्ताओं में जोश भरने के लिये सपा-बसपा ने बनवाया संयुक्त झंडा

कार्यकर्ताओं में जोश भरने के लिये सपा-बसपा ने बनवाया संयुक्त झंडा


लखनऊ- आगामी लोकसभा चुनाव के लिये गठबंधन का एलान करने के बाद समाजवादी पार्टी (सपा) और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के सामने अब असली चुनौती अपने कार्यकर्ताओं को एकजुट करना है। कार्यकर्ताओं को एकजुट करने के लिये दोनों दलों ने संयुक्त झंडे बनवाये हैं ताकि इससे कार्यकर्ता उत्साहित हों और साथ मिलकर काम करें।

सपा के प्रवक्ता अमीक जामेई ने बुधवार को यहां कहा कि ''दोनों दलों के बीच एकजुटता की यह बस शुरुआत है। नेताओं और कार्यकर्ताओं की बैठक में हम दोनों दलों के झंडों का इस्तेमाल करने लगे हैं। आने वाले समय में दोनों दलों के बीच और एकजुटता आपको दिखाई देगी।''

गौरतलब है कि गठबंधन के एलान के दिन सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं को बसपा के कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर काम करने के लिये कहा था। उन्होंने यह भी कहा था कि मायावती का सम्मान ही उनका सम्मान है। श्री यादव के बाद मायावती ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं से सपा अध्यक्ष को सम्मान देने के लिये कहा था।

बसपा के दफ्तर के बाद दोनों दलों के संयुक्त झंडे बेच रहे अमित सोनी ने कहा कि दोनों के नेता पहले अलग-अलग झंडे खरीदते थे लेकिन अब वे भी संयुक्त झंडे खरीद रहे हैं। अमित ने बताया कि सपा और बसपा के बीच गठबंधन के बाद संयुक्त झंडों की मांग बढ़ी है। दोनों दलों की ओर से लोकसभा सीटों के प्रत्याशियों के नाम की घोषणा होने के बाद झंडों की मांग और बढ़ने की उन्होंने उम्मीद जतायी।


Share it
Top