प्रियंका भीड़ तो जुटा सकती हैं, लेकिन वोट मिल जाएंगे, यह कहना जल्दबाजी होगी : रीता बहुगुणा

प्रियंका भीड़ तो जुटा सकती हैं, लेकिन वोट मिल जाएंगे, यह कहना जल्दबाजी होगी : रीता बहुगुणा


कानपुर। लोकसभा चुनाव को देखते हुए चाहे भाजपा हो या कांग्रेस या फिर सपा-बसपा, सभी की नजरें उत्तर प्रदेश की 80 लोकसभा सीटों पर लगी हुई हैं। कुछ दिनों पूर्व आगामी चुनाव को देखते हुए कांग्रेस ने प्रियंका गांधी को सूबे में चुनावी कमान सौंप दी। इससे उत्तर प्रदेश का चुनाव रोचक हो गया लेकिन क्या प्रियंका के आने से भाजपा को नुकसान होगा और कांग्रेस को फायदा? इन सवालों को लेकर रविवार को प्रदेश की महिला, बाल कल्याण एवं पर्यटन मंत्री रीता बहुगुणा जोशी ने कहा कि प्रियंका भीड़ तो जुटा सकती हैं, लेकिन वोट मिल जाएंगे, यह कहना जल्दबाजी होगी।

रीता बहुगुणा ने आगे कहा कि गांधी परिवार का जो भी सदस्य रहा, हमेशा से जनता में उसे देखने के लिए महज उत्सुकता ही रही। आप चुनाव से दो माह पहले प्रियंका को सक्रिय कर देते हैं और सोचते हैं चुनाव जीत लेंगे। इस कदम को लेकर जनता भी जान रही है कि यह चुनावी स्टंट है। लोकसभा चुनाव में चाहे सपा-बसपा का गठबंधन हो या कांग्रेस का अकेले 80 सीटों पर लड़ने का फैसला, सभी का असल मकसद भाजपा को हराना है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में विकास के मुद्दे पर चुनाव लड़ने जा रही भाजपा को सूबे में सबसे ज्यादा सीटें मिलेंगी। इस मौके उन्होंने केंद्र व प्रदेश सरकार की उपलब्धियां भी गिनाईं। कहा कि गरीबों को रहने के लिए आवास दिए गए, खाना बनाने के लिए गैस चूल्हा दिया गया। 'बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ' योजना के अंतर्गत बालिकाओं को शिक्षित करने व महिलाओं की सुरक्षा को देखते हुए कई अहम फैसले लिए गए।

युवा संसद में युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि युवाओं के हाथों में देश का भविष्य है। वह आम जनमानस की समस्याओं को दूर करने और सामाजिक हित के अधिक से अधिक कार्यों को करने के लिए हमेशा तैयार रहें।

प्रदेश की महिला, बाल कल्याण एवं पर्यटन मंत्री रीता बहुगुणा रविवार को जनपद में भारतीय जनता पार्टी के युवा संसद कार्यक्रम में शामिल होने जनपद आईं थी। यहां छत्रपति शाहू जी महाराज विश्वविद्यालय में आयोजित कार्यक्रम में पत्रकारों से बातचीत करते हुए उन्होंने उक्त बातें कही।


Share it
Top