नगर निगम कार्यकारिणी चुनाव : भाजपा के चार, कांग्रेस-सपा के एक-एक प्रत्याशी जीते

नगर निगम कार्यकारिणी चुनाव : भाजपा के चार, कांग्रेस-सपा के एक-एक प्रत्याशी जीते




निर्दलीय प्रत्याशी का पर्चा गलत होने से महापौर ने चुनाव प्रक्रिया से किया बाहर

कानपुर। कानपुर नगर निगम कार्यालय के सदन में कार्यकारिणी चुनाव सम्पन्न हुआ। भारतीय जनता पार्टी के चार, कांग्रेस व सपा के एक-एक प्रत्याशी ने जीत दर्ज की। जबकि एक निर्दलीय प्रत्याशी का पर्चा रद्द हो गया। हालांकि बिना मत पड़े ही घंटों की जद्दोजेहद के बाद महापौर ने चुनाव का परिणाम घोषित किया। जिसको लेकर अन्य दलों में रोष व्यक्त किया है।

नगर निगम कार्यकारिणी सदस्यों (पार्षद) के छह सीटें बीते दिनों खाली हो गई थीं। कार्यकारिणी पार्षदों के चयन के लिए शनिवार को चुनाव हुआ। नगर निगम सदन में शनिवार को सुबह से महापौर प्रमिला पांडेय की अध्यक्षता में कार्यकारिणी पार्षद चुनाव की शुरुआत की गई। सभी दलों के जीते पार्षदों द्वारा चुनाव प्रक्रिया में शांतिपूर्ण तरीके से शामिल हुए। सदन में सात प्रत्याशियों द्वारा पर्चा दाखिल किया गया। इनमें से भाजपा के हरीशंकर गुप्ता, अवनीश खन्ना, अरविंद व अनूप शुक्ला ने पर्चा भरा। जबकि कांग्रेस के अश्वनी चढ्ढा, सपा से हाजी सुहैल अहमद व एक निर्दलीय प्रत्याशी के रुप में मनोज कुमार पांडेय ने पर्चा दाखिल किया।

महापौर ने पर्चा दाखिल करते समय चुनाव जीतकर आए पार्षदों को मतदान कराएं जाने की बात कही। लेकिन अचानक सदन में पर्चा दाखिल होने के बाद मत पेटी को पीछे रखते हुए महापौर ने सभी दलों के पार्षदों को जन विकास के कार्यों का हवाला देकर उलझा दिया। जिससे सदन में उपस्थित कांग्रेस व सपा के पार्षदों ने चुनाव प्रक्रिया पूरी कराने की बात कही। बावजूद इसके घंटों बाद बिना मत की चुनाव सम्पन्न कराते हुए कार्यकारिणी पार्षदों की खाली सीटों पर परिणाम घोषित कर दिया। सर्वसम्मति से चार भाजपा के प्रत्याशियों का चयन किया गया, जबकि कांग्रेस व सपा के पर्चा दाखिल करने वाले एक-एक प्रत्याशी को कार्यकारिण पार्षद चुना गया। वहीं, सातवें प्रत्याशी के रुप में चुनाव मैदान में उतरे निर्दलीय मनोज कुमार पांडेय का गलत पर्चा भरे जाने के चलते रद्द कर दिया गया।


Share it
Top