पश्चिमी उत्तर प्रदेश में ईकोर्ट बेंच के लिए वकीलों ने खोला मोर्चा..आर-पार की लड़ाई का ऐलान

पश्चिमी उत्तर प्रदेश में ईकोर्ट बेंच के लिए वकीलों ने खोला मोर्चा..आर-पार की लड़ाई का ऐलान



मेरठ। पश्चिमी उत्तर प्रदेश में हाईकोर्ट बेंच के लिए वकीलों ने मोर्चा खोल दिया है। लोकसभा चुनाव से पहले वकीलों ने आर-पार की लड़ाई का ऐलान किया है। इसके लिए बुधवार को सभी जिलों में वकीलों ने टोल प्लाजा पर धरना देकर उन्हें फ्री कराया। मेरठ में भी सिवाया टोल प्लाजा पर वकीलों ने हंगामा किया और थोड़ी देर के लिए उसे टोल फ्री कराया।

पश्चिमी उत्तर प्रदेश में हाईकोर्ट बेंच की स्थापना के लिए मेरठ बार एसोसिएशन की अगुवाई में आंदोलन किया जा रहा है। पांच जनवरी को गढ़मुक्तेश्वर में हुई वकीलों की सभा में 30 जनवरी को सभी जिलों और तहसीलों में टोल प्लाजा पर धरना प्रदर्शन करके उसे टोल फ्री कराने का निर्णय लिया गया था। उसी निर्णय के आधार पर बुधवार को मेरठ में सिवाया टोल प्लाजा पर बड़ी संख्या में वकील पहुंचे और टोल फ्री करा दिया। इसे लेकर वकीलों की टोल प्लाजा के कर्मचारियों से कहासुनी भी हुई।

सूचना पर बड़ी संख्या में पुलिस फोर्स टोल प्लाजा पर पहुंच गई। दोपहर 12 बजे वकीलों ने टोल प्लाजा पर धरना शुरू कर दिया। इसके बाद वकीलों ने हाईकोर्ट बेंच के लिए आरपार की लड़ाई का ऐलान किया। सभी वकीलों को धरना स्थल पर लाने के लिए बार एसोसिएशन ने अनुपस्थित वकीलों पर पांच हजार रुपए का जुर्माना लगाने का निर्णय लिया था।

बार एसोसिएशन के अध्यक्ष राजेंद्र सिंह जानी और महामंत्री देवकीनंदन शर्मा की अगुवाई में सुबह हनुमान मंदिर के सामने वाले गेट पर वकील एकत्र हुए और सिवाया टोल प्लाजा के लिए रवाना हुए। इस मौके पर उदयवीर सिंह, मनोज गुप्ता, नरेश त्यागी, अजय त्यागी, तरूण ढाका, मेहर सिंह पाल, रजत पालीवाल, अशोक शर्मा, डीडी शर्मा आदि मौजूद थे।


Share it
Top