ईवीएम हैकिंग कार्यक्रम की कांग्रेस ने लिखी पटकथा, भाजपा ने सिब्बल पर पूछा सवाल..हैकथॉन कार्यक्रम में क्या कर रहे थे सिब्बल?

ईवीएम हैकिंग कार्यक्रम की कांग्रेस ने लिखी पटकथा, भाजपा ने सिब्बल पर पूछा सवाल..हैकथॉन कार्यक्रम में क्या कर रहे थे सिब्बल?

नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने ईवीएम हैकिंग को लेकर कांग्रेस पार्टी को आड़े हाथ लिया है। उन्होंने कहा कि हैकिंग विवाद में जिस आशीष रे का नाम आया है उससे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने लंदन में मुलाकात की है। रे नेशनल हेराल्ड में लिखते हैं। उसने अपने कॉलम में राहुल गांधी की काफी तारीफ की है। वह एक समर्पित कांग्रेसी और भाजपा विरोधी हैं। कथित ईवीएम हैकर की प्रेस कांफ्रेंस आशीष रे ने करवाई है। यह प्रेस कांफ्रेंस कांग्रेस द्वारा प्रायोजित थी। हैकर अपना चेहरा ढंककर आया था।

अमेरिकी साइबर एक्सपर्ट द्वारा किए गए खुलासों से भारतीय राजनीति में एक बार फिर ईवीएम को लेकर भूचाल आ गया है। कथित साइबर एक्सपर्ट सैयद शुजा ने दावा है कि कि 2014 में भारतीय जनता पार्टी की जीत ईवीएम में घपले की वजह से हुई थी, इसी का राज गोपीनाथ मुंडे को पता था इसलिए उनकी हत्या करवा दी गई थी।

रविशंकर ने सवाल पूछते हुए कहा कि हैकर की प्रेस कांफ्रेस में कपिल सिब्बल वहां क्या कर रहे थे। बिना किसी सबत के देश पर इतना बड़ा आरोप लगाया गया है। हैकर ने न तो कोई सबूत दिए और न ही पत्रकारों के सवाल लिए। क्या कांग्रेस द्वारा प्रायोजित यह कार्यक्रम भारत के जनादेश को बदनाम करने के लिए आयोजित नहीं किया गया था? वह किस हक से वहां उपस्थित थे? मुझे लगता है कि वह वहां कांग्रेस की तरफ से स्थिति की निगरानी कर रहे थे। इस पूरी प्रेस कांफ्रेंस की पटकथा कांग्रेस पार्टी ने लिखी थी।

प्रसाद ने कहा, 'कांग्रेस का झूठा एजेंडा भारतीय मतदाताओं का अपमान है। 2014 में यूपीए सत्ता में थी हम नहीं। हमपर ईवीएम हैकिंग का आरोप कैसे लगा सकते हैं जब हम सत्ता में ही नहीं थे? भारत का चुनाव आयोग जिसकी चर्चा पूरे विश्व में होती है, आज कांग्रेस पार्टी उस संवैधानिक संस्था पर हमले करवा रही है। कांग्रेस पार्टी 2019 में होने वाली अपनी हार के बहाने अभी से ढूंढने लगी है। कांग्रेस पार्टी सुनियोजित तरीके से देश की संवैधानिक और वैधानिक संस्थाओं की अस्मिता को कमजोर करने का भरसक प्रयास कर रही है।'

Share it
Top