वित्त मंत्रालय में हलवा सेरेमनी के साथ शुरू हुई बजट 2019 की छपाई, निभाई गई परंपरा

वित्त मंत्रालय में हलवा सेरेमनी के साथ शुरू हुई बजट 2019 की छपाई,  निभाई गई परंपरा


नई दिल्ली। बजट पेश होने से उसकी छपाई से पहले हलवा सेरेमनी का खास महत्‍व होता है। वित्त मंत्रालय में सोमवार को हलवा सेरेमनी के साथ बजट की छपाई का काम शुरू हो गया। यह सेरेमनी बजट सत्र शुरू होने से पहले आयोजित किया जाता है। हलवा सेरेमनी वित्त मंत्रालय के नॉर्थ ब्लॉक ऑफिस में हुई, जिसमें वित्त राज्यमंत्री शिव प्रसाद शुक्ला, आर्थिक मामलों के सचिव सुभाष गर्ग और रोड, ट्रांसपोर्ट हाईवे राज्यमंत्री पी. राधाकृष्णनन शामिल हुए। अंतरिम बजट 01 फरवरी को वित्त मंत्री ही पेश करेंगे।

जेटली नहीं हो सके इसमें शामिल

इस बार इस रेमनी में वित्त मंत्री अरुण जेटली शामिल नहीं हो सके। वो अपने स्वास्थ्य जांच के लिए अमेरिका में हैं। आमतौर पर हलवा सेरेमनी की शुरुआत वित्त मंत्री ही करते हैं। इसके बाद बजट के डॉक्यूमेंट का काम वित्त मंत्रालय में शुरू हो जाता है। फिर जो भी कर्मचारी बजट की छपाई और उसके बनाने में सीधे तौर पर शामिल होते हैं, उनको अपनों से अलग कर दिया जाता है। वो इस दौरान किसी से भी संपर्क नहीं कर सकते।

कर्मचारियों को मंत्रालय में ही रहना पड़ता है

बजट डॉक्यूमेंट की छपाई से बजट के पेश होने तक सभी कर्मचारियों को वित्त मंत्रालय में ही रहना होता है। वो सिर्फ वित्त मंत्रालय में मौजूद फोन से ही अपने परिवार से संपर्क कर सकते हैं। इसके पीछे एक बड़ा कारण बजट को लीक होने से बचाना भी है। चुनावी साल होने की वजह से इस बार के बजट पर सभी की नजरें टिकी हुई हैं। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने संकेत दिए हैं कि सरकार अंतरिम बजट पेश करेगी। इसमें किसान, सैलेराइड क्लास और कारोबारियों के लिए कई बड़े और अहम ऐलान हो सकते हैं।


Share it
Top