मायावती अगर दलितों की हितैषी हैं तो उन्हें भाजपा ​के साथ आना चाहिये: अठावले

मायावती अगर दलितों की हितैषी हैं तो उन्हें भाजपा ​के साथ आना चाहिये: अठावले



बसपा अध्यक्ष के खिलाफ टिप्पणी अनुचित पर हो कार्रवाई

लखनऊ। केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री रामदास अठावले ने बहुजन समाज पार्टी अध्यक्ष मायावती से कहा है कि यदि वह वास्तव में दलितों की हितैषी हैं तो उन्हें भारतीय जनता पार्टी के साथ आ जाना चाहिये।

श्री अठावले ने रविवार को यहां संवाददाताओं से कहा कि सुश्री मायावती भाजपा को जातिवादी बताती हैं लेकिन उन्हें याद रखना चाहिए कि वह भाजपा के सहयोग से एक नहीं तीन-तीन बार उत्तर प्रदेश जैसे बड़े राज्य की मुख्यमंत्री बन चुकी हैंं। मुख्यमंत्री बनना था तो भाजपा जातिवादी नहीं थी और अब जातिवादी हो गई। उन्होंने कहा कि सपा-बसपा-रालोद के गठबंधन से भाजपा पर कोई असर पड़ने वाला नहीं है। श्री अठावले ने कहा कि मायावती के खिलाफ भाजपा की विधायक साधना सिंह की टिप्पणी अपमानजनक है। वह दलित समुदाय की एक मजबूत महिला हैं, एक अच्छी प्रशासक हैं। उन्होंने विधायक के खिलाफ कार्रवाई की भी मांग की ।

उन्होंने दावा किया कि लोकसभा चुनाव के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से बात की है कि अगर दो से तीन सीटें उनकी रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया को दे दी जाएं तो वह प्रदेश में दलित वोटों का 50 फीसदी हासिल कर सकते हैं। भाजपा को इसका फायदा मिलेगा। उन्होंने आर्थिक रूप से कमजोर सामान्य वर्ग को 10 फीसदी आरक्षण दिए जाने का स्वागत करते हुए कहा कि मोदी सरकार ने ये ऐतिहासिक फैसला किया है। ममता बनर्जी की कोलकाता रैली पर उनका कहना था कि सभी विपक्षी नेताओं के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमले से साफ है कि श्री मोदी एक जनप्रिय नेता हैं।


Share it
Top