कोलकाता महारैली : यूपी में भाजपा का खाता भी नहीं खुलने देंगे : अखिलेश

कोलकाता महारैली : यूपी में भाजपा का खाता भी नहीं खुलने देंगे : अखिलेश



कोलकाता।‌ कोलकाता के ब्रिगेड मैदान में ममता बनर्जी द्वारा आयोजित महारैली में शामिल होने पहुंचे उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने दावा किया है कि आगामी लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश में भी भाजपा का खाता नहीं खुलेगा। इसके साथ ही उन्होंने मंच पर मौजूद पार्टियों के नेताओं से अनुरोध किया कि सारे लोग मिलकर अपने राज्य में भाजपा का सूपड़ा साफ कर दें। आने वाले लोकसभा चुनाव के बाद देश में नया प्रधानमंत्री होगा और जिसे पाकर सारा देश खुश होगा।

उन्होंने महागठबंधन के नेता के बारे में संकेत देते हुए कहा कि जनता जिसे चुनेगी, वही हमारा नेता बनेगा। अखिलेश ने कहा कि मैं दीदी (ममता) को धन्यवाद दूंगा कि 12 तारीख को सपा, बसपा और हमारे सहयोगी दलों का गठबंधन हो गया। गठबंधन हुआ तो देश में खुशी की लहर दौड़ गई और आज की रैली से जो संदेश जाएगा, उससे देश की जनता भी फैसला लेने के लिए तैयार हो जाएगी। अखिलेश नेे कहा कि प्रधानमंत्री कभी-कभी हमें चिढ़ाने के लिए यह भी कहते हैं कि इनके पास दूल्हे बहुत हैं। कौन बनेगा? हम तो कहते हैं अगर हमारे पास दुल्हा ज्यादा है तो जिसे जनता तय करेगी वही बनेगा। अखिलेश ने कहा कि हम आपसे पूछते हैं कि जो फेल हो गए, जिन्होंने देश को निराश कर दिया, जिन्होंने जनता को धोखा दिया, जिन्होंने साजिश की, समाज में नफरत फैलाई उसके अलावा कोई दूसरा नाम भाजपा के पास हो तो बता दें। उन्होंने कहा कि अभी कम दलों का गठबंधन है, और अधिक पार्टियां जुड़ेंगी।

भाजपा पर कटाक्ष करते हुए अखिलेश यादव ने कहा, आप में 40 गठबंधन है। 40 गठबंधन के साथ-साथ जैसे-जैसे चुनाव करीब आ रहा है आप और लोगों से भी गठबंधन कर रहे हो। सीबीआई से, ईडी से, लेकिन हम सभी ने मिलकर जनता से गठबंधन कर लिया है और लोकतंत्र में जो जनता तय करती है वही फैसला होता है। उन्होंने कहा कि जब से समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी का गठबंधन हुआ है, तब से भाजपा में खलबली मची हुई है। रोज बैठकें हो रही हैं, ताकि कम से कम उत्तर प्रदेश में एक सीट बचा लें। बंगाल, बिहार, झारखंड, तमिलनाडु भाजपा को जीरो पर रोक सकता है तो हम सभी को भी मिलकर भाजपा को जीरो पर लाना होगा। हमारी आपकी जिम्मेदारी भी है कि भाजपा का खाता नहीं खुले।

अखिलेश ने कहा कि जो बोलते थे कि सबका साथ सबका विकास होगा, उन्होंने समाज में नफरत फैलाई। देश को बचाने के लिए, लोकतंत्र को बचाने के लिए और जो संवैधानिक संस्थाएं हैं उनको बचाने के लिए हमको एक होकर काम करना होगा और आने वाले चुनाव में भाजपा को सत्ता से उखाड़ फेंकना होगा।


Share it
Top