भतीजे आकाश को बीएसपी आंदोलन से जोड़ूंगी..उन्हें सीखने का मौका दूंगी: मायावती

भतीजे आकाश को बीएसपी आंदोलन से जोड़ूंगी..उन्हें सीखने का मौका दूंगी: मायावती

नई दिल्ली। बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष व उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने मीडिया में अपने भतीजे को लेकर आ रही खबरों पर गहरी नाराजगी जताई है। उन्होंने गुरुवार को यहां इस सम्बन्ध में कुछ समाचार चैनलों की दलित विरोधी मानसिकता को इन खबरों के लिए जिम्मेदार ठहराया।

उन्होंने कहा कि अभी तक मेरे भाई के बेटे आकाश पार्टी में गैर-राजनीतिक ढंग से काम करते थे लेकिन अब मैं उन्हें पार्टी के मूवमेंट में शामिल करुंगी और उन्हें सीखने का मौका दूंगी। उन्होंने कहा बीएसपी परिवारवाद की पार्टी नहीं है। जन्मदिन की वजह से आकाश मेरे साथ दिखाई दिया।

मायावती ने कहा कि मैं कांशीराम की शिष्या हूं, इसलिए 'जैसे को तैसा' का जवाब देने के लिए मैं आकाश को बसपा आंदोलन में शामिल करूंगी । अगर मीडिया के कुछ जातिवादी और दलित-विरोधी तबके को इससे कोई समस्या है तो होती रहे। हम इसकी परवाह नहीं करते हैं।

मायावती ने कहा, 'हम दब्बू किस्म के लोग नहीं हैं जो सुनकर बैठ जाएंगे, घबरा जाएंगे। उसका मुंहतोड़ जवाब देना भी हमें आता है।' उन्होंने कहा कि हमारे खिलाफ दुष्प्रचार किया जाता है। मेरे जन्मदिन पर आयोजित कार्यक्रम में 'केक खाने' को 'केक लूटकर ले जाना' कहा गया।

बसपा सुप्रीमो ने कहा कि इससे पहले भी दलित-विरोधी मीडिया ने मेरी चप्पलों और सैंडिलों के बारे में कई झूठी खबरें फैलाई थी और अब वह मेरे भाई के बेटे के साथ भी वैसा ही कर रही है। आकाश के जूते और चप्पलों की कीमतों को भी बढ़ा-चढ़ाकर दिखाया जा रहा है जैसे उन्होंने ही उसे खरीदकर दी हो।

मायावती ने कहा कि सपा-बसपा गठबंधन से दलित विरोधी पार्टियां चिंतित हैं। बसपा की लोकप्रियता में बढ़ोत्तरी ने उन दलों और नेताओं में अशांति पैदा की है, जो दलित और जातिवाद विरोधी हैं। हमसे आमने-सामने लड़ने के बजाय वह हमारे खिलाफ अनर्गल बातें कर रहे हैं और कुछ जातिगत व दलित विरोधी चैनलों के साथ मिलकर हमारे खिलाफ षड्यंत्र रच रहे हैं।


Share it
Top