कैलाश विजयवर्गीय और अभिषेक बनर्जी में छिड़ा ट्वीटर वार

कैलाश विजयवर्गीय और अभिषेक बनर्जी में छिड़ा ट्वीटर वार


कोलकाता। पश्चिम बंगाल प्रदेश भाजपा के प्रभारी और राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय तथा मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे और डायमंड हार्बर से सांसद अभिषेक बनर्जी में ट्विटर पर वाकयुद्ध छिड़ गया है। दरअसल शुक्रवार रात अभिषेक बनर्जी ने एक वीडियो जारी किया। इसमें उन्होंने अंग्रेजी में कहा कि मैं भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को चुनौती दे रहा हूं कि पश्चिम बंगाल में किसी भी सीट से चुनाव लड़के दिखाएं। मैं उनको हराऊंगा।

अभिषेक बनर्जी के इस ट्वीट पर रिप्लाई करते हुए कैलाश विजयवर्गीय ने लिखा कि राजनीति में गलतफहमियां लाइलाज होती हैं| इन्हें मत पाली श्रीमान अभिषेक बनर्जी क्योंकि अपने घर के सामने तो ......... (डैस-डैस) भी शेर होता है। तृण-तृण का मूल बिखरते देर नहीं लगेगी!

इसके बाद शनिवार सुबह अभिषेक बनर्जी ने तुरंत कैलाश विजयवर्गीय के इस रिप्लाई का जवाब दिया और उन्हीं की भाषा में लिखा, 'बिलकुल सही कहा आपने, बात जब वफादारी की हो तो - - - (डैस-डैस) से बढ़कर कोई नहीं होता।' इसके बाद अभिषेक बनर्जी ने बांग्ला में लिखा कि आपको मैं अनुरोध कर रहा हूं कि हमारी भाषा बांग्ला है। हमारे राज्य की भाषा बांग्ला है, जो आप या आपके दिल्ली के नेता पढ़ना भी नहीं जानते हैं, बोलना भी नहीं जानते हैं, लिखना भी नहीं जानते हैं। पहले बांग्ला सीखिए। उसके बाद बंगाल दखल का सपना देखिएगा।

गौर हो कि पश्चिम बंगाल के सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस की सुप्रीमो ममता बनर्जी ने अभिषेक बनर्जी को अपना राजनीतिक उत्तराधिकारी घोषित किया है| पार्टी के शीर्ष नेताओं ने इसे स्वीकार भी किया है। इस वजह से कैलाश विजवर्गीय अमूमन अभिषेक बनर्जी पर हमलावर रहते हैं। उन्होंने राहुल गांधी से उनकी तुलना करते हुए कहा था कि पश्चिम बंगाल में भी एक पप्पू है। इसके अलावा राज्यभर में फैले अवैध शराब कारोबार से धन उगाही का आरोप भी अभिषेक बनर्जी पर कैलाश विजयवर्गीय ने लगाया था। हालांकि बनर्जी ने इसके खिलाफ उन्हें कानूनी नोटिस भेजा है। अब देखने वाली बात यह होगी कि कैलाश विजयवर्गीय और अभिषेक बनर्जी के बीच यह ट्विटर वार कहां तक जाता है।[रॉयल बुलेटिन अब आपके मोबाइल पर भी उपलब्ध ,ROYALBULLETIN पर क्लिक करें और डाउनलोड करे मोबाइल एप ]


Share it
Top