एसएससी-2017 परीक्षा दोबारा कराने पर रुख स्पष्ट करे सरकार: सुप्रीम कोर्ट

एसएससी-2017 परीक्षा दोबारा कराने पर रुख स्पष्ट करे सरकार: सुप्रीम कोर्ट



नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार से 2017 की एसएससी परीक्षा दोबारा आयोजित करवाने पर उसका रुख पूछा है। सुप्रीम कोर्ट पहले भी कह चुका है कि गड़बड़ियों के मद्देनजर परीक्षा दोबारा करवाना ही बेहतर होगा। सुप्रीम कोर्ट ने ऑनलाइन परीक्षाओं में गड़बड़ी रोकने पर सुझाव के लिए कंप्यूटर विशेषज्ञ नंदन नीलकेणी, विजय भाटकर की कमेटी बनाने की बात कही है।

इससे पहले कोर्ट ने कहा था कि परीक्षा में हुई गड़बड़ी के मद्देनजर इसे रद्द कर दोबारा आयोजित करवाना ही बेहतर रहेगा।29 अक्टूबर,2018 को सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि 2017 की एसएससी परीक्षा को रद्द कर नए सिरे से परीक्षा करवाना बेहतर तरीका है। उसके पहले 31 अगस्त,2018 को कोर्ट ने एसएससी की 2017 की संयुक्त ग्रेजुएट लेवल और सीनियर सेकेंडरी लेवल परीक्षा के परिणाम घोषित करने पर रोक लगाई थी। सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि प्रथम दृष्टया पूरा सिस्टम गड़बड़ियों से भरा हुआ दिख रहा है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि वह एसएससी में गड़बड़ी कर किसी व्यक्ति को नौकरी करने की अनुमति नहीं दे सकता है। [रॉयल बुलेटिन अब आपके मोबाइल पर भी उपलब्ध ,ROYALBULLETIN पर क्लिक करें और डाउनलोड करे मोबाइल एप ]


Share it
Top