मेरठ: संपत्ति के लिए सहेली के साथ मिलकर करवाया था कारोबारी पति का कत्ल

मेरठ: संपत्ति के लिए सहेली के साथ मिलकर करवाया था कारोबारी पति का कत्ल


मेरठ। जिस लापता कारोबारी को पिछले 15 दिनों से पुलिस होटलों में तलाश करती घूम रही थी, उसका कत्ल गुमशुदगी के दिन हो गया था। कत्ल कराने वाला भी कोई और नहीं, बल्कि कारोबारी की पत्नी थी जो पुलिस के सामने पति को सकुशल लाने की गुहार लगा रही थी।

गंगानगर में हुए इस सनसनीखेज हत्याकांड का खुलासा करते हुए पुलिस ने कारोबारी की पत्नी और उसकी सेहली सहित भाड़े के एक कातिल को गिरफ्तार किया है।

शनिवार को वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अखिलेश कुमार और एसपी देहात राजेश कुमार ने बताया कि मृतक की पत्नी के कहने पर उसकी सहेली ने कारोबारी को अपने प्रेमजाल में फंसाकर मिलने के लिए बुलाया था। जहां भाड़े के दो हत्यारों ने कारोबारी की गला रेतकर हत्या कर दी। खुर्जा में कारोबारी का शव मिलने के बाद पुलिस शव को लावारिस मानकर उसका अंतिम संस्कार भी कर चुकी है।

हत्या के पीछे की वजह कारोबारी की करीब चार करोड़ की संपत्ति है, जिसे वह बेचने पर तुला था और उसकी पत्नी इसके लिए तैयार नहीं थी। उन्होंने बताया कि गंगानगर थाना क्षेत्र की डिफेंस काॅलोनी कोठी नंबर बी 32 में रहने वाले कारोबारी राजेश अहलुवालिया बीती 25 नवम्बर को संदिग्ध हालात में लापता हो गए थे। बाद में उनकी कार बाइपास स्थित एक मंडप के बाहर खड़ी मिली थी।

राजेश के बेटे सिद्वार्थ ने 30 नवम्बर को अपने पिता के अपहरण की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। पुलिस ने राजेश के मोबाइल की काॅल डिटेल्स खंगाली तो पता चला कि गाजियाबाद निवासी सलोनी और राजेश के बीच काफी लंबी बातें और चैटिंग होती थी। इसके बाद पुलिस ने सलोनी को उठा लिया। सलोनी ने बताया कि राजेश ने अपनी पत्नी नीलांजना और बच्चों को घर से निकाल दिया था। वर्तमान समय में नीलांजना गाजियाबाद में सलोनी के पड़ोस में रहती थी और दोनों के बीच अच्छी दोस्ती थी।

सलोनी ने बताया कि नीलांजना अपने पति से बेहद दुखी थी और उसे बताती थी कि राजेश अक्सर शराब पीकर उसके साथ मारपीट करता था। वहीं वह अपनी लगभग चार करोड़ की संपत्ति भी बेचकर दूसरी शादी करने की फिराक में था। नीलांजना ने सलोनी को अपने पति राजेश को प्रेमजाल में फंसाने के लिए तैयार कर लिया। योजना के तहत सलोनी ने सोशल मीडिया के सहारे राजेश से दोस्ती गांठ ली और दोनों के बीच लंबी-लंबी बाते होने लगीं। वहीं सलोनी ने ही नीलांजना को खुर्जा निवासी अपने परिचित राशिद से मिलवाया।

नीलांजना ने राशिद को अपने पति राजेश का कत्ल करने के लिए 25 लाख की सुपारी दी थी। इसके बाद योजना के तहत बीती 25 नवम्बर को सलोनी ने राजेश को काॅल करके मिलने के लिए हापुड़ बुलाया। जहां से खुर्जा ले जाकर राशिद और उसके साथी साबिर ने गला रेतकर राजेश की हत्या कर दी। हत्या की तसदीक कराने के लिए शव का फोटो खींचकर नीलांजना के व्हाट्सअप पर भी भेजा गया। इसके बाद कातिलों ने राजेश के शव को क्रियावली के जंगल में फेंक दिया।

रॉयल बुलेटिन की नई एप प्ले स्टोर पर आ गयी है।royal bulletin news लिखे और नई app डाउनलोड करें

सलोनी और राशिद ने राजेश की कार को दिल्ली रोड स्थित मंडप के बाहर पार्क कर दिया, लेकिन दोनों आरोपी निकट लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गए। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने बताया कि पुलिस ने राशिद, सलोनी और कारोबारी की पत्नी नीलांजना को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं फरार आरोपी साबिर की तलाश जारी है।


Share it
Top