दिल्ली के डीसीपी ने किया ट्वीट- कभी सोचा नहीं था पटाखा फोड़ने पर कोई जेल जाएगा, वायरल होने के बाद किया डिलीट

दिल्ली के डीसीपी ने किया ट्वीट- कभी सोचा नहीं था पटाखा फोड़ने पर कोई जेल जाएगा, वायरल होने के बाद किया डिलीट

नयी दिल्ली। दिवाली के मौके पर सुप्रीम कोर्ट ने राजधानी दिल्ली में रात आठ से दस बजे के बीच पटाखा फोड़ने की समय सीमा निर्धारित की थी। इस समय सीमा का जमकर उल्लंघन हुआ और सुप्रीम कोर्ट के इस आदेश का उल्लंघन करने के मामले में 562 एफआईआर दर्ज की जा चुकी हैं। पटाखा बैन को लेकर दिल्ली पुलिस के एक उपायुक्त का ट्वीट शुक्रवार को सोशल मीडिया में वायरल हो गया, हालांकि बाद में उन्होंने अपना ट्वीट डिलीट कर दिया।

दक्षिण-पश्चिम दिल्ली के पुलिस उपायुक्त (डीसीपी) देवेंद्र आर्य ने हिंदी में ट्वीट किया, 'पटाखा फोड़ना आपको जेल में पहुंचा सकता है। कभी कल्पना नहीं की थी कि ऐसा भी होगा। क्या मैं अपने देश, भारत में हूं? जय श्री राम। जय हिंद।' जैसे ही उनका यह ट्वीट सोशल मीडिया में वायरल हुआ तो उन्होंने इसे डिलीट कर दिया। एक अन्य ट्वीट में उन्होंने कहा, 'यह मेरे हिस्से से हुई लापरवाही थी। यह किसी तरह का विचार या बयान नहीं दिखलाता है। मैं इस लापरवाही के लिए माफी मांगता हूं।'

आपको बता दें कि शीर्ष न्यायालय ने कहा था कि पटाखे जलाने की इजाजत दिवाली के दिन शाम आठ बजे से रात 10 बजे तक की होगी। राजधानी दिल्ली और एनसीआर में बढ़ते प्रदूषण को देखते हुए सुप्रीम कोर्ट ने पटाखे जलाने के लिए समय तय किया था। कोर्ट ने अपने पहले के फैसले में लड़ी वाले पटाखों के निर्माण एवं उन्हें जलाने पर रोक लगाई थी। रॉयल बुलेटिन की नई एप प्ले स्टोर पर आ गयी है।royal bulletin news लिखे और नई app डाउनलोड करें

Share it
Top