गुरुग्राम गोलीकांड : मुख्यमंत्री ने गृह सचिव एवं डीजीपी को किया तलब, एसआईटी करेगी जांच

गुरुग्राम गोलीकांड : मुख्यमंत्री ने गृह सचिव एवं डीजीपी को किया तलब, एसआईटी करेगी जांच



गुरुग्राम। साइबर सिटी गुरुग्राम में दिन-दहाड़े हुई खूनी वारदात से पुलिस-प्रशासन के अलावा सरकार में भी हड़कंप मचा हुआ है। आखिरकार जज की पत्नी और बेटे पर उनके ही सिक्योरिटी गार्ड द्वारा किए गए हमले के बाद मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने इस पर संज्ञान लेते हुए तुरंत गृह सचिव और पुलिस महानिदेशक बीएस संधु को तलब किया है। सीएम ने निर्देश दिए हैं कि वीआईपी ड्यूटी पर तैनात जवानों की काउंसलिंग की जाए। साथ ही, पूरे मामले की जांच के लिए एसआईटी का गठन कर दिया गया है। डीसीपी ईस्ट सुलोचना गजराज मामले की जांच कर रही है।

शनिवार को गुरुग्राम की अदालत में कार्यरत एडीजे कृष्णकांत की पत्नी रेणू और बेटे ध्रूव पर उनके ही गनमैन द्वारा किए गए हमले से साइबर सिटी पुलिस में हड़कंप की स्थिति है। हरियाणा पुलिस के जवान ने किस तरह भरे बाजार में ताबड़तोड़ गालियों बरसाकर जज की पत्नी को मौत के घाट उतार दिया और बेटा अभी तक जिंदगी और मौत के बीच जूझ रहा है। हालांकि पुलिस को फरीदाबाद से हत्यारे गनर को अरेस्ट करने में कामयाबी मिल गई है लेकिन सवाल उठता है कि गनर ने जज के परिवार पर हमला क्यों किया?

प्रारंभिक पूछताछ में पता चला है कि हरियाणा पुलिस का सिपाही जज की सिक्योरिटी लगा गनमैन महीपाल मानसिक रूप से परेशान था। पुलिस के मुताबिक वह करीब डेढ़ साल से जज की सुरक्षा में तैनात था। अब तक हुई पुलिस पूछताछ में सिर्फ इतना खुलासा हो पाया है कि जज की पत्नी रेणू और बेटे ध्रुव को गोली मारने के बाद वह इस्लामपुर में रहने वाले अपने दोस्त को लेकर शहर में घूमता रहा।

पूछताछ में आरोपित ने यह भी स्वीकार किया है कि गोली मारने के बाद जब उसने अपने दोस्त को मर्डर की जानकारी दी तो उन्होंने इसका विरोध किया। विरोध करने पर वह अपने दोस्तों को छोड़कर फरीदाबाद की ओर भाग गया था।

लोग बनाते रहे मर्डर की वीडियो

शनिवार दोपहर बाद गुरुग्राम में सनसनी फैल गई कि जज के सिक्योरिटी गार्ड ने उनकी पत्नी और बेटे को गोली मार दी। सेक्टर-49 साउथ सिटी-2 के आर्केडिया बाजार में दिन दहाड़े हुई गोलीबारी से मार्केट में भी हड़कंप मच गया लोग वारदात स्थल की ओर दौड़ने लगे। लोगों ने देखा एक सिपाही ने जज की पत्नी को छाती में दो और बेटे ध्रुव के सिर में तीन गोलियां दाग दी। सिपाही महीपाल की घिनौनी करतूस को रोकने का तो किसी का साहस नहीं हुआ लेकिन लोग वीडियो बनाने लगे। शैतान सिपाही ने करीब पांच गोलियां जज की पत्नी और बेटे को मारी।

गोली मारने के बाद भी चिल्ला रहा था आरोपित गनमैन

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक गोली मारने के दौरान गनमैन महीपाल जोर जोर से चिल्ला रहा था। भारी भीड़ में तेज तेज चिल्लाने की वजह क्या रही होगी यह तो जांच का विषय है। सैकड़ों लोगों की भीड़ में सिपाही ने अपना आपा आखिरकार कैसे खो दिया। गोली मारने के बाद भी वह दरिदंगी करता दिखाई दिया। गोली मारने के बाद वह चला गया लेकिन दोबारा लौटकर ध्रुव को गाड़ी में डालने का प्रयास करने लगा। सीट पर सामान होने के कारण वह सीट पर नहीं डाल सका।

जज के बेटे ने किया था शैतान का विरोध

जज की पत्नी और बेटे ने खरीदारी कर ली थी उसके बाद वे घर चलने की तैयारी कर ही रहे थे कि गनमैन ने उन पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी। प्रत्यक्षदर्शियों की मुताबिक जज के बेटे ने उसका विरोध भी करना चाहा लेकिन शैतान महीपाल ने उसके सिर में गोली मार दी जिससे वह ढेर होकर सड़क पर गिर पड़ा।

गोली मारने के बाद आरोपी पहुंचा दोस्त के घर

पुलिस से पूछताछ में हमलावर सिपाही ने बताया कि एडीजे कृष्णकांत की पत्नी और बेटे को गोली मारने के बाद वह इस्लामपुर गांव में अपने दोस्त कुक्की से मिला और कहा जज साहब के परिवार का एक्सीडेंट हो गया है। इतना सुनते ही कुक्की और अन्य युवक उसकी कार में बैठ लिए। आरोपित ने बताया कि वह उन्हें लेकर घूमता रहा। बाद में उसने खुलासा किया कि उसने खुद ही जज की पत्नी और बेटे को गोली मार दी। इतना सुनते ही दोस्तों ने विरोध तो उन्हें बख्तावर चौक पर उतारकर फरार हो गया।

सेक्टर-56 थाना में आला अधिकारियों ने की घंटों पूछताछ

हत्या के आरोपी गनमैन से पुलिस के आला अधिकारियों ने सेक्टर-56 थाना में कई घंटों पूछताछ की है। शुरुआत में यही सामने आया कि उसकी मानसिक स्थित ठीक नहीं है। पूछताछ में यह भी पता चला कि आरोपी ने गोली मारने के बाद अपनी मां से भी बात करी है। उसने इस घिनौनी वारदात को आखिरकार अंजाम क्यों दिया अभी इसकी पूछताछ जारी है। अभी तक जांच में पुलिस को मार्केट में लगे कैमरे से ऐसी फुटेज नहीं मिले हैं। सीसीटीवी फुटेज मिलने के पूरी घटना साफ हो जाएगी।

आरोपी से अभी पूछताछ जारी हैः पुलिस प्रवक्ता

पुलिस प्रवक्ता ने रविवार को बताया कि मामले की जांच के लिए एसआईटी गठित कर दी गई है। डीसीपी सुलोचना गजराज मामले की जांच कर रही हैं लेकिन अब तक यह खुलासा नहीं हो पाया है कि आखिरकार सिपाही महिपाल ने यह मर्डर क्यों किया? उन्होंने बताया कि पुलिस महीपाल से पूछताछ कर रही है। फिलहाल, मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने डीजीपी और गृह सचिव को तलब कर पूरी जानकारी ली और इस हत्याकांड पर दु:ख जताया है। उन्होंने डीजीपी और गृहसचिव को सभी वीआईपी ड्यूटी में लगे सिक्योरिटी गार्ड की काउंसलिंग के भी निर्देश दिए हैं।


Share it
Top