'मी-टू कैंपेन': अपराध के खिलाफ आवाज उठाना सभी का संवैधानिक अधिकार- ईरानी

मी-टू कैंपेन: अपराध के खिलाफ आवाज उठाना सभी का संवैधानिक अधिकार- ईरानी


इंदौर। केन्द्रीय वस्त्र मंत्री स्मृति ईरानी ने चर्चित 'मी-टू कैंपेन' के संबंध में कहा है कि गलत व्यव्हार और अपराध के खिलाफ आवाज उठाने का सभी को संवैधानिक अधिकार प्राप्त है।

श्रीमती ईरानी ने यहां भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की ओर से आयोजित 'कमल शक्ति संवाद' कार्यक्रम में कल देर शाम सामाजिक संगठनों की महिलाओं के प्रश्नों का उत्तर दिया। उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा कि मी-टू कैंपेन के तहत सामने आये सभी मामलों में कानूनी प्रक्रिया के तहत जांच करायी जाएगी।

श्रीमती ईरानी ने महिलाओं के साथ लगातार बढ़ रही छेड़छाड़ और दुष्कर्म की घटनाओं को लेकर पूछे गए सवाल पर कहा कि बालिकाओं के साथ दुष्कर्म करने वाले अपराधियों को मौत की सजा देने का निर्णय सरकार ले चुकी है। लेकिन परिवर्तन की शुरुआत हमारे अपने घरों से होती है। इसलिए हमें अपने बच्चों को अच्छे संस्कार देना चाहिए। अपने घर के लड़कों को अच्छे संस्कार देंगे, तो वह अन्य घरों की महिलाओं का भी सम्मान करेंगे।

श्रीमती ईरानी ने यहां अपने पूर्व निर्धारित समय से लगभग 30 मिनट विलंब से पहुंची थीं। उन्होंने संवाद कार्यक्रम से पहले भाजपा की दिवंगत वरिष्ठ नेता राजमाता विजयाराजे सिंधिया पर केंद्रित व्याख्यान में हिस्सा लिया।


Share it
Top