इनेलो में घमासान: अभय चौटाला ने कहा पार्टी में नहीं है कोई मतभेद

इनेलो में घमासान: अभय चौटाला ने कहा पार्टी में नहीं है कोई मतभेद


चंडीगढ़। इनेलो में मचे घमासान को लेकर नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला ने शुक्रवार को चंडीगढ़ में प्रेस कॉन्फ्रेंस की। उन्होंने मीडिया के जरिए अपना पक्ष रखते हुए कहा पार्टी में ना मतभेद और न ही मनभेद। राजनीतिक पार्टियों में समय-समय पर संगठन के बदलाव होते रहते हैं। जो पदाधिकारी सही ढंग से काम नहीं करेंगे उनको हटाया भी जाएगा। हालांकि इस मौके पर अभय चौटाला इशारों ही इशारों में बताया कि दुष्यंत ने जिम्मेदारी सही ढंग से निभाई।

इनेलो का कलह आया सड़कों पर

अभय चौटाला ने कहा कि तीन अक्टूबर को गुरुग्राम में पार्टी की मीटिंग हुई थी। मीटिंग में इनेलो सुप्रीमो ओम प्रकाश चौटाला को सभी अधिकार दिए गए थे वो पार्टी में चाहे तो बदलाव कर सकते हैं। अब ओम प्रकाश चौटाला को देखना है कि संगठन में किसकी क्या जिम्मेदारी होगी। आठ अक्टूबर को गोहाना में ताऊ देवीलाल की जयंती पर हुए घमासान के बाद पार्टी में सब कुछ ठीक नहीं चल रहा था। इसके बाद पार्टी सुप्रीमो ने इनसो को भंग कर दिया और दुष्यंत चौटाला से उनके अधिकार छीन लिए गए। अब इनेलो के अंदर का घमासान सड़कों पर आ गया है।

दुष्यंत ने सही ढंग से नहीं निभाई जिम्मेदारी

शुक्रवार की प्रेसवार्ता में अभय चौटाला ने कहा यह चुनावी ईयर चल रहा है ऐसे में लापरवाह पदाधिकारियों की वजह से पार्टी को नुकसान हो सकता है। इस मौके पर अपने भाई के बेटे व भतीजे सांसद दुष्यंत चौटाला की तरफ इशारा करते हुए अभय चौटाला ने कहा इनेलो ने दुष्यंत को रैली में लोगों को लाने की जिम्मेदारी सौंपी थी। साथ ही कहा गया था कि लोगों को किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं होनी चाहिए। लेकिन दुष्यंत चौटाला अपना काम ठीक ढंग से नहीं कर पाए। चौटाला ने कहा पार्टी सुप्रीमो ओम प्रकाश चौटाला ने अब उन्हें जिम्मेदारी से मुक्त कर दिया है।

मीडिया को दी नसीहत, हमारे मामले में दखल न दें

चंडीगढ़ में शुक्रवार को प्रेसवार्ता के दौरान अभय चौटाला एक बार फिर मीडिया पर गर्म होते दिखे। उन्होंने कहा यह हमारी पार्टी का मसला है इसमें दखल देने से बचना चाहिए। आप प्रदेश के किसानों की चिंता करें हमारी नहीं। रही बात पार्टी संगठन की तो वो काम सुप्रीमो का होता है। सभी राजनीतिक पार्टियों के संगठन में समय-समय पर बदलाव होते रहते हैं। चुनाव जीतने के लिए जो सही होगा वही पार्टी करेगी। हालांकि इस मौके पर उन्होंने यह भी कहा हमारी पार्टी में ना कोई मतभेद और न ही मनभेद। दुष्यंत चौटाला हमारा बच्चा है। पार्टी सुप्रीमो ओम प्रकाश चौटाला का अधिकार है वो किसी जिम्मेदारी दें या न दें। हो सकता है वो उनको कोई और जिम्मेदारी दे दें।

किसानों के साथ नहीं होने देंगे अन्याय: चौटाला

प्रेसवार्ता के दौरान अभय चौटाला भाजपा सरकार पर भी बरसे। उन्होंने कहा हरियाणा में काफी बारिश हुई जिससे किसानों की फसलों को नुकसान पहुंचा है। हमारी पार्टी ने सरकार से तुरंत गिरदावरी कर मुआवजा देने की सरकार से मांगी थी। लेकिन सरकार ऐसा नहीं कर रही है। अब हम खुद गांव-गांव जाकर किसानों से मिलेंगे और उनकी लड़ाई लड़ेंगे। उन्होंने कहा हम किसानों के साथ किसी भी प्रकार का अन्याय नहीं होने देंगे।

Share it
Top