राजमाता सिंधिया ने पूरा जीवन आमजन की सेवा में समर्पित कर दिया : प्रधानमंत्री

राजमाता सिंधिया ने पूरा जीवन आमजन की सेवा में समर्पित कर दिया : प्रधानमंत्री


नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज राजमाता विजयाराजे सिंधिया की जयंती पर उन्हें याद करते हुए कहा कि उन्होंने अपना पूरा जीवन सार्वजनिक सेवा में समर्पित कर दिया।

प्रधानमंत्री ने ट्वीट कर कहा कि वह गांव, जंगल, आदिवासी और दूरदराज के इलाकों में जनता के लिए वह हमेशा हाजिर रहती थीं। वह हजारों, लाखों लोगों के लिए प्रेरणा का स्रोत हैं|

प्रधानमंत्री ने कहा कि जनसंघ और उसके बाद भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की स्थापना में उनके योगदान को बताने के लिए शब्द कम पड़ जाएंगे। उन्होंने आपातकाल का भी खुलकर विरोध किया था| तत्कालीन सरकार ने इसके लिए उन्हें कई तरह से सताया, मगर वह डटी रहीं।

विजयाराजे सिंधिया का जन्म 12 अक्टूबर 1919 को मध्य प्रदेश के सागर में हुआ था। वह भाजपा के संस्थापक सदस्यों में से एक थीं। मध्य प्रदेश की राजनीति में उनका विशेष स्थान रहा। वह 1957 से 1991 तक आठ बार ग्वालियर और गुना से सांसद रहीं। 25 जनवरी 2001 को उनका निधन हो गया।


Share it
Top