काला जादू: अहमदाबाद में एक ही परिवार के तीन सदस्यों की सामूहिक मौत

काला जादू: अहमदाबाद में एक ही परिवार के तीन सदस्यों की सामूहिक मौत


अहमदाबाद। अहमदाबाद के नरोडा इलाके में काला जादू के चक्कर में एक ही परिवार के तीन सदस्यों की सामूहिक मौत हुई है। वृद्ध महिला को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पत्नी, बेटी की लाशें कमरे में पड़ी मिली और व्यापारी का शव लटकता मिला। व्यापारी ने सुसाइड नोट में लिखा है कि मैंने मां को काला जादू के बारे में कई बार बताना चाहा पर उन्होंने कभी इस बात पर विश्वास नहीं किया।

नरोडा इलाके में किराये के फ़्लैट में रहने वाले कुणाल त्रिवेदी कास्मेटिक चीजों का व्यापार करते थे।कुणाल का शव फांसी के फंदे पर लटकता मिला जबकि उसकी पत्नी कविता और 16 वर्षीय बेटी श्रीन की लाश घर में पड़ी मिली। घर की बुजुर्ग महिला यानी कुणाल की मां बेहोश हालत में पाई गई। उसने भी ज़हरीली दवा पी थी, हालांकि उन पर इस दवा का असर ज्यादा नहीं हुआ जिसकी वजह से उनकी जान बच गई। फ़िलहाल उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पड़ोसियों का कहना है कि 24 घंटे से कुणाल का घर बंद था। रिश्तेदार भी फोन कर रहे थे लेकिन परिवार की तरफ से जवाब नहीं दिया जा रहा था। फोन पर कोई जवाब नहीं मिलने के बाद उनके रिश्तेदार और अन्य परिवार वाले पुलिस को लेकर वहां पहुंचे जहां कमरे में अंदर दाखिल होते ही यह खौफनाक नजारा दिखा।

कुणाल ने आत्महत्या करने से पहले तीन पन्ने का सुसाइड नोट लिखा जो पुलिस को मिल गया है। सुसाइड नोट में कुणाल ने लिखा था कि मैंने मां को काला जादू के बारे में कई बार बताना चाहा पर मां ने कभी इस बात पर विश्वास नहीं किया। उसने लिखा कि मां ने कभी मुझे नहीं समझा। पूरी दुनिया ने मुझे शराबी बुलाया। अगर पहले समझ लिया होता तो आज मेरी जिंदगी किसी दूसरे मुकाम पर होती। मैं जीवन में कभी किसी बात से नहीं डरा। सुसाइड नोट में लिखा कि वे काली शक्तियों की वजह से आत्महत्या कर रहे हैं। उसका विश्वास था कि कुल देवी आएंगी और उसे बचाकर निकाल लेगी पर ये काली शक्तियां इतनी आसानी से पीछा नहीं छोड़ती हैं।

अहमदाबाद में ही कुणाल के बहन-बहनोई और परिवार के कई अन्य सदस्य रहते हैं। मां को अभी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। कुणाल ने आगे लिखा कि मैंने व्यापार में मध्य प्रदेश के कारोबारी को 14,55,000 रुपये दिए हैं। मेरे पास कोई देनदार नहीं है। मैंने कारोबार में 6 लाख रुपये माल के लिए दिए हैं। किसी को भी इस पैसे की वसूली का अधिकार नहीं होगा ।


Share it
Top