भाजपा विधायक राम कदम के विवादित बयान पर महिलाओं का आंदोलन जारी, पुलिस स्टेशन के सामने आत्मदाह की चेतावनी

भाजपा विधायक राम कदम के विवादित बयान पर महिलाओं का आंदोलन जारी, पुलिस स्टेशन के सामने आत्मदाह की चेतावनी


मुंबई। भाजपा विधायक राम कदम के विवादित बयान को लेकर राज्य का राजनीतिक माहौल मंगलवार से ही गरमाया हुआ है। शुक्रवार को इस मामले में महिला कार्यकर्ताओं ने राम कदम पर मामला दर्ज न होने पर पुलिस स्टेशन के सामने आत्मदाह की चेतावनी दी है।

उधर राजस्व मंत्री चंद्रकांत पाटील ने आंदोलनकारी महिलाओं से इस मामले को यहीं समाप्त करने की अपील की है। चंद्रकांत पाटील ने कहा कि राम कदम ने अपने बयान को लेकर माफी मांग लिया है| इसलिए मामले को अब समाप्त कर दिया जाना चाहिए। चंद्रकांत दादा पाटील ने कहा कि राम कदम ने जो विवादित बोला है, उसका किसी भी तरह समर्थन नहीं किया जा सकता है। लेकिन राम कदम के क्षेत्र में किए गए कार्यों को देखते हुए उनके मुंह से निकले इस अक्षम्य व्यक्तव्य को नजरअंदाज किया जाना चाहिए।

राकांपा प्रवक्ता व विधायक विद्या चव्हाण ने कहा कि हर पार्टी की महिला कार्यकर्ता घाटकोपर पुलिस स्टेशन के सामने पिछले 48 घंटे से लगातार आंदोलन कर रही हैं। पुलिस इस मामले में केस दर्ज नहीं कर रही है। अगर पुलिस को केस दर्ज नहीं करना है तो वह लिखकर दे, जिससे वह इस मामले को लेकर कोर्ट में जा सकें। विद्या चव्हाण ने कहा कि अगर राम कदम पर केस दर्ज नहीं किया गया तो महिलाएं पुलिस स्टेशन के बाहर आत्मदाह करेंगी| इसकी जिम्मेदारी पुलिस व राज्य सरकार की होगी।

शुक्रवार को सुबह से घाटकोपर इलाके में महिलाओं का जमघट लगा हुआ है। घाटकोपर पुलिस स्टेशन से लेकर घाटकोपर स्टेशन तक महिलाओं की लगी भीड़ की वजह से यहां पुलिस बंदोबस्त बढ़ा दिया गया है। स्थानीय पुलिस ने पुलिस स्टेशन के दरवाजे को भी आधा बंद कर दिया है, जिससे पुलिस स्टेशन में बैठे पुलिस अधिकारी खुद को नजरबंद ही महसूस कर रहे हैं। अभी तक पुलिस ने राम कदम पर मामला दर्ज किए जाने का निर्णय नहीं लिया है। स्थानीय पुलिस के अनुसार इस मामले में कानूनी सलाह ली जा रही है। कानूनी सलाह आने के बाद ही पुलिस निर्णय ले सकती है।

Share it
Share it
Share it
Top