आज अपने परिजनों के पास पहुंच जाएंगे पाक से रिहा हुए 30 भारतीय कैदी

आज अपने परिजनों के पास पहुंच जाएंगे पाक से रिहा हुए 30 भारतीय कैदी



चंडीगढ़ । पाकिस्तान की जेलों से रिहा किए गए 30 भारतीय कैदी आज (सोमवार) अपने-अपने घरों को पहुंच जाएंगे। पाकिस्तानी अधिकारी दोपहर बाद 30 कैदियों को बाघा बार्डर पर भारतीय अधिकारियों को सौंपेंगे।

पाकिस्तान ने कराची जेल से 26 और अन्य जेलों से चार भारतीय कैदियों को रविवार को रिहा किया था। कराची जेल से रिहा हुए कैदियों को रविवार शाम लाहौर बाघा बार्डर तक 'अलविदा इदी फाउंडेशन' द्वारा विशेष वाहन से लाया गया। इन कैदियों में 26 मछुआरे हैं, जो मछलियां पकड़ते वक्त पाकिस्तान के जल क्षेत्र में दाखिल हो गए थे। वहीं, चार कैदी एेसे हैं जो सरहद पार कर गए थे। रिहा होने वाले 30 कैदियों में जयपुर निवासी गजानंद शर्मा भी शामिल हैं, जो 36 साल से पाकिस्तान की कोट लखपत जेल में बंद हैं।

भारत और पाकिस्तान ने मार्च में इस बात पर सहमति जताई थी कि वह महिला कैदियों और 70 साल से ऊपर वाले लोगों को रिहा कर देगा। आपसी समन्वय के बाद भारत ने विशेषज्ञ डॉक्टरों की एक टीम को वीजा देकर पड़ोसी देश भेजा था ताकि वह मानसिक रूप से बीमार व बुजुर्ग कैदियों की रिहाई और स्वदेश आगमन सुनिश्चित कर सके। पाकिस्तान ने फरवरी में कहा था कि वह भारत से भी इसी तरह की उम्मीद करता है और उसने कुछ भारतीय मछुआरों की रिहाई कर दी थी।

उल्लेखनीय है कि भारत ने जनवरी में पाकिस्तान को 250 नागरिकों व 94 मछुआरों की एक सूची दी थी। वहीं पाकिस्तान ने अपनी गिरफ्त में मौजूद 58 नागरिकों और 399 मछुआरों की सूची साझा की थी। कैदियों की रिहाई को लेकर हुआ यह समझौता विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और पाकिस्तानी उच्चायोग सोहेल महमूद के बीच वर्ष 2017 में हुई बातचीत का नतीजा है।


Share it
Share it
Share it
Top