सपा-बसपा का कांग्रेस को गठबंधन से बाहर रखना अदूरदर्शी कदम होगा : सलमान खुर्शीद

सपा-बसपा का कांग्रेस को गठबंधन से बाहर रखना अदूरदर्शी कदम होगा : सलमान खुर्शीद



नई दिल्ली। कांग्रेस 2019 के लोकसभा चुनावों के मद्देनजर समाजवादी पार्टी (सपा) और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) को साधने में जुट गई है। दरअसल पार्टी को अाशंका है कि उत्तर-प्रदेश में विपक्षी दलों के गठबंधन से कहीं कांग्रेस बाहर न रह जाए। इस सिलसिले में पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद ने रविवार को कहा है कि उत्तर-प्रदेश में गठबंधन से कांग्रेस को बाहर रखना अदूरदर्शी कदम होगा। इस फूट से भाजपा को फायदा मिलेगा।

सलमान खुर्शीद ने रविवार को अपने एक साक्षातकार में कहा, 'मुझे लगता है कि यह बहुत ही अदूरदर्शी कदम होगा। मैं इसलिए नहीं कह रहा हूं कि अगर ऐसा नहीं होता है तो हमें फायदा होगा, बल्कि मुझे लगता है कि कांग्रेस को बाहर करने या उसे यूपी में बौना दिखाने की कोशिश अदूरदर्शी कदम होगा। अगर ऐसा होता है तो भाजपा को फायदा पहुंचेगा।'

खुर्शीद ने कहा, 'मुझे लगता है कि भविष्य के लिहाज से यह ठीक नहीं होगा। याद रखना चाहिए कि कांग्रेस ने 2009 के लोकसभा चुनावों में यूपी में अच्छा प्रदर्शन किया था। यूपी में बहुत बुरे हालात में भी कांग्रेस का 7 प्रतिशत वोट शेयर है और यह एक बार फिर बढ़कर 10, 11 या 12 प्रतिशत पहुंच जाएगा। वोट शेयर कई सीटों पर निर्णायक भूमिका में हैं।'

खुर्शीद के अनुसार, 'इसलिए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार के मुद्दे पर विपक्ष को अभी न उलझने का संदेश दिया था। क्योंकि भाजपा विपक्षी पार्टियों के बीच अंतर पैदा करने की रणनीति पर काम कर रही है। कांग्रेस यह सुनिश्चित करने की दिशा में काम कर रही हैं कि महागठबंधन कामयाब रहे।'


Share it
Top