मेरठ में भाजपा की प्रदेश कार्यसमिति आज से, क्रांति की धरती से बनेगी चुनावी रणनीति, 'हलाला' और 'तीन तलाक' पर भी चर्चा

मेरठ में भाजपा की प्रदेश कार्यसमिति आज से, क्रांति की धरती से बनेगी चुनावी रणनीति, हलाला और तीन तलाक पर भी चर्चा


मेरठ । क्रांति की धरती मेरठ में शनिवार से भाजपा की दो दिवसीय प्रदेश कार्यसमिति की बैठक शुरू हो रही है। इसमें पार्टी लोकसभा चुनाव को लेकर अपनी रणनीति पर मंथन करेगी। इस दौरान 'हलाला' और 'तीन तलाक' पर भी चर्चा हो सकती है।

गोरखपुर, फूलपुर, कैराना लोकसभा और बिजनौर जिले की नूरपुर विधानसभा सीट के लिए पिछले दिनों हुए उपचुनाव में सपा-बसपा व रालोद के गठजोड़ से लगातार हार से घबरायी भाजपा अब विपक्षी दलों और उनके गठबंधन से पार पाने की जुगत में है।

भाजपा सूत्रों के मुताबिक पार्टी चुनावी वर्ष में इस कार्यसमिति के दौरान राजनीतिक एजेंडे पर तो चर्चा करेगी ही साथ ही पश्चिमी उप्र में सियासत के लिए हलाला और तीन तलाक जैसे मुददों पर भी गहन विचार विमर्श कर सकती है।

सपा-बसपा व अन्य विपक्षी दलों के गठबंधन को देखते हुए कार्यसमिति की बैठक में लोकसभा चुनावों के मद्देनजर 73 सीटों से अधिक सीटें पाने के लक्ष्य के लिए व्यूहरचना तैयार की जाएगी। पश्चिमी उत्तर प्रदेश में दलितों की बहुतायत होने के कारण इस क्षेत्र के गढ़ मेरठ में यह बैठक होना अपने आप में अहमियत रखता है।

सुभारती विश्वविद्यालय में हो रही इस कार्यसमिति की बैठक की अध्यक्षता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डा. महेन्द्र नाथ पाण्डेय करेंगें। केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह अपराह्न करीब तीन बजे इस बैठक का उदघाटन करेंगे और समापन रविवार को राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह करेंगे। कार्यसमिति की बैठक को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी संबोधित करेंगे। कार्यक्रम स्थल को प्रसिद्ध स्वतंत्रता संग्राम सेनानी मातादीन बाल्मिकी के नाम समर्पित किया गया है।

कार्यसमिति की बैठक से पहले शनिवार को पार्टी के प्रदेश पदाधिकारियों की बैठक शुरू हो गयी है। इस बैठक के बाद ही औपचारिक तौर पर राजनाथ सिंह कार्यसमित का उद्घाटन करेंगे।

पार्टी के पदाधिकारियों के मुताबिक दो दिवसीय बैठक के दौरान उप्र में 73 लोकसभा सीटों से अधिक सीटों को जीतने और वोट प्रतिशत 51 प्रतिशत तक बढ़ाने के लक्ष्य को लेकर व्यूहरचना भी तैयार की जाएगी।

भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता मनीष शुक्ला के अनुसार चुनावी वर्ष होने की वजह से इस बैठक में उप्र के सभी सांसदों एवं विधायकों को भी बुलाया गया है। उन्होंने बताया कि पार्टी अध्यक्ष अमित शाह कार्यसमिति के दौरान सभी जनप्रतिनिधियों के साथ अलग से बैठक करेंगे। उल्लेखनीय है भाजपा को वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव में प्रदेश की कुल 80 में से 73 सीटें मिली थीं।


Share it
Top