इंस्पेक्टर डिबाई पर गिरी वाट्सएप चैट की गाज, निलंबित, अज्ञात के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज

इंस्पेक्टर डिबाई पर गिरी वाट्सएप चैट की गाज, निलंबित,  अज्ञात के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज


मेरठ। जिले में सोमवार को वाट्सएप पर वायरल हुई चैट में एडीजी सहित अन्य आला अधिकारियों पर कीचड़ उछालने वाले इंस्पेक्टर डिबाई परशुराम यादव पर अधिकारियों की गाज गिर गई। इस मामले में इंस्पेक्टर को निलंबित करते हुए बुलंदशहर के एसएसपी ने अज्ञात के खिलाफ मिथ्या चैट वायरल करने की रिपोर्ट दर्ज कराई है।
बुलंदशहर जनपद के डिबाई थाने में तैनात इंस्पेक्टर परशुराम यादव के सीयूजी नंबर से सोमवार को किसी नंबर पर अपने साथी से की गई वाट्सएप चैट का स्क्रीन शाॅट वायरल हुआ था। यह चैट में इंस्पेक्टर परशुराम यादव ने आरोप लगाया कि उन्होंने एडीजी मेरठ जोन प्रशांत कुमार को 50 हजार की घूस देकर अपना तबादला कराया है। वहीं एसएसपी बुलंदशहर को तीन लाख की रकम देने के बाद उन्हें थाने का चार्ज मिला है। चैट के वायरल होते ही अधिकारियों में हड़कंप मच गया। वहीं, इंस्पेक्टर परशुराम ने सफाई दी कि किसी ने उनका सीयूजी नंबर हैक करके यह चैट की है।
सूत्रों के अनुसार इस मामले में लखनऊ से जवाब-तलब किए जाने के बाद आला अधिकारियों में हड़कंप मचा है। पूरे मामले में पुलिस की छीछालेदर होती देख अधिकारियों ने सख्त तेवर अपनाए और एसएसपी बुलंदशहर कृष्ण बहादुर सिंह ने इंस्पेक्टर डिबाई परशुराम यादव को निलंबित करते हुए उनके खिलाफ जांच बैठा दी है। साथ ही इस मामले में बुलंदशहर कोतवाली में अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ पुलिस अधिकारियों को बदनाम करने के लिए मिथ्या चैट वायरल किए जाने की रिपोर्ट दर्ज कराई गई है।
मेरठ जोन के एडीजी प्रशांत कुमार का कहना है कि इस मामले से उनका कोई लेना-देना नहीं है। यह चैट किसी की शरारत भी हो सकती है। एसएसपी बुलंदशहर ने इस मामले में एफआईआर दर्ज कराई है और इंस्पेक्टर को निलंबित कर दिया है।

Share it
Share it
Share it
Top