बिहार में अमित शाह ने लोकसभा चुनाव का किया शंखनाद

बिहार में अमित शाह ने लोकसभा चुनाव का किया शंखनाद


पटना। बिहार की राजधानी पटना से भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने गुरुवार को आठ महीने बाद होने वाले लोकसभा चुनाव के लिए शंखनाद किया। उन्होंने कार्यकर्ताओं का आह्वान किया कि वे नरेन्द्र मोदी को दोबारा प्रधानमंत्री बनाने के संकल्प के साथ भाजपा को फिर अकेले पूर्ण बहुमत में लाने और केन्द्र में राजग की सरकार बनाने के लिए अभी से तन-मन से लग जाएं।
शाह ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को नेहरु-इंदिरा-राजीव-सोनिया गांधी की चार पीढ़ी के शासन का देश को हिसाब देने की चुनौती दी और दावा किया कि देश के लिए नरेन्द्र मोदी का साढ़े चार वर्षों के कार्यकाल की उपलब्धियां अधिक और उल्लेखनीय हैं। उन्होंने कहा कि एक ओर विपक्ष नरेन्द्र मोदी हटाओ के लिए महागठबंधन बनाने में लगा है वहीं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी देश में गरीबी एवं बेरोजगारी हटाने, देश का विकास और सम्मान बढ़ाने के संकल्प को साकार कर रहे हैं। शाह स्थानीय ज्ञान भवन में बिहार भर में सक्रिय दस हजार शक्ति केन्द्रों के प्रभारियों की राज्यस्तरीय बैठक को संबोधित कर रहे थे।
इसके पहले शाह ने बापू सभागार में सोशल मीडिया से जुड़े कार्यकर्ताओं की राज्यस्तरीय बैठक को संबोधित करने हुए लोकसभा का आसन्न चुनाव जीतने का मंत्र दिया। शक्ति केन्द्रों के प्रभारियों की बैठक में पार्टी के केन्द्र में बिहार राज्य का प्रतिनिधित्व कर रहे मंत्री, बिहार सरकार के मंत्री, सांसद व विधायक, पूर्व सांसद व पूर्व विधायक, जिलाध्यक्ष सहित प्रदेश और जिला के पदाधिकारी मौजूद थे।
भाजपा अध्यक्ष ने कांग्रेस पर जमकर हमला बोला और कहा कि राहुल बाबा को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से पिछले साढ़े चार वर्षों के कार्यकाल का हिसाब मांगने का कोई अधिकार नहीं है। उन्होंने कहा कि सोनिया गांधी के 10 वर्षों के शासन में केन्द्र सरकार नीति-लकवाग्रस्त हो गयी थी। केन्द्र में सभी मंत्री प्रधानमंत्री बन गए थे। प्रधानमंत्री को मंत्री ही प्रधानमंत्री नहीं समझते थे। जबकि नरेन्द्र मोदी ने स्थिति बदली। उन्होंने पूरी दुनिया में भारत का सम्मान बढ़ाया।
पाकिस्तान में सर्जिकल स्ट्र्र्राइक कर अमेरिका और इजराइल के बाद भारत दुश्मन के घर में घुसकर हमला और बदला लेने की ताकत दिखाने वाला तीसरा देश बन गया। जनता ने हमें जनादेश दिया है तब हम खुद ही अपने कार्यकाल का हिसाब दे रहे हैं। देश में बड़ा परिवर्तन आया है। लोग बदलाव महसूस कर रहे हैं। चार करोड़ गरीबों के घर में मुफ्त रसोई गैस-चूल्हे, 7.50 करोड़ घरों में शौचालय निर्माण, बेघरों के लिए दो करोड़ घरों का निर्माण एवं बिजली सुलभ कराया गया है। वहीं चार पीढ़ी के शासन में 19 हजार गांवों में बिजली नहीं पहुंची थी। अब देश के सभी गांवों बिजली पहुंच गई है और 2022 तक सभी बेघरों को घर, शौचालय के साथ बिजली भी सुलभ होगी।

Share it
Top