सीएम योगी के सख्त आदेश, बंद होंगी बकरे और मुर्गे काटने वाली दुकानें..दुकानें खुली मिलीं तो DM-SP होंगे जिम्मेदार

सीएम योगी के सख्त आदेश, बंद होंगी बकरे और मुर्गे काटने वाली दुकानें..दुकानें खुली मिलीं तो DM-SP होंगे जिम्मेदार

लखनऊ। अक्सर सड़क के किनारे मुर्गे व बकरी सरेआम काटकर दुकानदार बेचते हैं। ऐसे दुकानदारों पर लगाम कसते हुए यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि यदि सड़क के किनारे मीट की दुकानें दिखेंगी तो उस जिले के डीएम व एसपी के खिलाफ राज्य सरकार सख्त कार्रवाई करेगी। हालांकि ये नियम पहले से ही लागू है, लेकिन फिर भी बूचड़खानों में खुलेआम पशुओं को काटकर बेचा जा रहा है।

बता दें कि लखनऊ में हुई एक बैठक में अधिकारियों को ये निर्देश दिए गए हैं। यह जानकारी सीएम योगी के मीडिया सलाहकार मृत्युंजय कुमार ने दी। सीएम योगी का कहना है कि प्रदेश में अवैध बूचड़खाने पूरी तरह से प्रतिबंधित हैं। इसके बावजूद कई जिलों में बूचड़खाने चलने की शिकायतें मिल रही हैं। उन्होंने कहा कि अवैध बूचड़खाने का मतलब बड़े स्लाटर हाउस ही नहीं, बल्कि बाजारों में सड़क किनारे खुलेआम कट रहे मुर्गा और बकरे की दुकानों से भी है। उनका कहना था कि इस पर भी प्रतिबंध लगाया जाए। इससे संक्रमण फैलता है, जो लोगों को बीमार कर रहा है। अगर सड़क किनारे खुलेआम मुर्गा और बकरा कटने की दुकानें दिखी तो संबंधित जिले के डीएम और एसपी की सामूहिक जिम्मेदारी तय होगी और इस पर कार्रवाई भी की जाएगी।

गौर हो कि योगी आदित्यनाथ के यूपी में सत्ता संभालते ही अवैध बूचड़खानों के लिए खिलाफ अभियान चलाया गया था। गैरलाइसेंसी और खुले में चलने वाले बूचड़खानों के खिलाफ सख्त कार्रवाई भी की गई थी। रिटेल में मीट बेचने वाले दुकानदारों को भी निर्देश दिया गया था कि वह लाइसेंसी बूचड़खाने से ही मीट खरीदकर बेचें। साथ ही दुकान पर पशु को न काटें। ऐसे दुकानों को परदे या फिर चटाई से ढक कर मीट बेचने का फरमान जारी हुआ था। सख्ती के साथ इसका पालन कराया गया था, लेकिन एक बार फिर से इस तरह की दुकानें शुरू हो गई हैं। ऐसे में एक बार फिर से योगी सरकार सख्त होते हुए मीट बेचने वाले दुकानदारों पर लगाम कसने को तैयार है।

Share it
Top