अलगाववादियों के बहिष्कार के बावजूद बारामूला, सांबा में 72 प्रतिशत मतदान

अलगाववादियों के बहिष्कार के बावजूद बारामूला, सांबा में 72 प्रतिशत मतदान

श्रीनगर जम्मू-कश्मीर में शहरी स्थानीय निकाय (यूएलबी) चुनाव के तीसरे चरण में शनिवार को बारामूला और सांबा में मतदाताओं ने अलगाववादियों के बहिष्कार की अपील को नकारते हुए 72 प्रतिशत मतदान किया जबकि श्रीनगर एवं अनंतनाग में बहुत कम मतदान हुआ।

मतदान के शांतिपूर्वक संचालन और मतदान क्षेत्रों में अलगाववादियों द्वारा आहूत हड़ताल को ध्यान में रखते हुए चुनाव से संबद्ध इलाकों में सुरक्षा के कड़े इंतेजाम किए गये थे।

अलगाववादियों के बहिष्कार के आह्वान को नकारते हुए बारामूला के सीमावर्ती उरी शहर में सुबह से दोपहर दो बजे तक 72.7 प्रतिशत लोगों ने मतदान किए। सीमावर्ती नगर उरी में विधानसभा और लोकसभा चुनावों में हमेशा से मतदाता सबसे अधिक मतदान करते हैं।

घाटी में मतदान के लिए बहुत कम मतदाता घरों से बाहर निकलें। एक आधिकारिक प्रवक्ता ने यूनीवार्ता को बताया कि पहले छह घंटे के दौरान श्रीनगर में केवल 1.5 जबकि अनंतनाग में 2.7 प्रतिशत मतदान हुआ।

नेशनल कांफ्रेस (एनसी) के पूर्व प्रवक्ता जुनैद अजीम मट्टू, जिन्होंने पार्टी से इस्तीफा दिया और निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर नये इलाके में अपना मतदान किया। उन्होंने भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) की कठपुतली होने का आरोप खारिज करते हुए कहा कि वह निर्दलीय लड़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि एनसी और पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी ने भाजपा के साथ गठबंधन किया था और दोनों पार्टियां अब लोगों को गुमराह कर रही हैं।

प्रवक्ता ने बताया कि जम्मू के सांबा में दोपहर दो बजे तक 73.9 प्रतिशत मतदान हुआ।

Share it
Top