इटावाः ट्रांसफर होने पर नाराज दारोगा ने 60 किलोमीटर की लगाई दौड़, रास्ते में हो गए बेहोश

इटावाः ट्रांसफर होने पर नाराज दारोगा ने 60 किलोमीटर की लगाई दौड़, रास्ते में हो गए बेहोश

इटावा। पुलिस लाइन में तैनात दारोगा ने नई तैनाती पर नाराजगी जाहिर करने के लिए ये तरीका अपना लिया। शुक्रवार को दारोगा विजय प्रताप ने अपने नए तैनाती स्थल बिठौली थाने की 60 किलोमीटर की दूरी दौड़करही तय करने का मन बना लिया। दरअसल, उन्होंने ये सबकुछ अपनी नाराजगी जाहिर करने के लिए किया है। जब हाइवे पर दारोगा दौड़ रहे थे तो उस वक्त सबको लगा कि वो किसी अपराधी के पीछे भाग रहे हैं। लेकिन जब उनसे बातचीत की गई तो उन्होंने सारी बात बताई।

दारोगा इस कदर नाराज थे कि सड़क पर अकेले दौड़ लगाते दिखाई दिए। दरोगा पुलिस लाइन के आरआई से नाराज होकर 60 किलोमीटर दौड़कर बिठौली थाने में ड्यूटी ज्वॉइन करने की ठानी। दरोगा विजय प्रताप ने बताया कि पुलिस लाइन के आरआई ने मनमाने ढंग से उनको पुलिस लाइन से 60 किलो मीटर दूर स्तिथ बिठौली थाने के लिए स्थांतरण कर दिया, जिसकी नाराजगी उनके मन में है। लेकिन नाराजगी वो आखिर दिखाए तो किसे दिखाए। इसके लिए वो सड़क पर दौड़ते हुए 60 किलो मीटर दूर बिठौली थाने में अपनी ज्वॉइनिंग करने जा रहे हैं।

करीब 40 किलोमीटर की दूरी तय करने के बाद दारोगा विजय प्रताप चकरनगर के हनुमंतपुरा के पास बेहोश होकर गिर गए। ग्रामीणों ने उन्हें सड़क से उठाकर चारपाई पर लिटाया और एंबुलेंस को जानकारी दी। इस पूरे मामले में एसएसपी संतोष कुमार मिश्रा ने गैर-जिम्मेदराना बयान देकर पल्ला झाड़ लिया। दारोगा ने बताया कि पुलिस लाइन में आने से पहले वो बिठौली थाना में ही तैनात थें। लेकिन वहां के थाना प्रभारी से विवाद होने के चलते उन्हें पुलिस लाइन भेज दिया गया और अब फिर वहीं भेजा जा रहा है। जबकि मैंने किसी तरह का कोई ट्रांसफर की मांग नहीं की है।

Share it
Top