बसपा से निकाले जाने के बाद मुकुल ने बड़े भाई रामवीर को बताया रावण..कहा, मायावती ने 5 करोड़ रुपये मांगे

बसपा से निकाले जाने के बाद मुकुल ने बड़े भाई रामवीर को बताया रावण..कहा,  मायावती ने 5 करोड़ रुपये मांगे


हाथरस। बसपा से निकाले जाने के बाद पूर्व विधायक व एमएलसी मुकुल उपाध्याय ने पार्टी के कद्दावर नेता पूर्व मंत्री रामवीर उपाध्याय के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। उन्होंने तमाम आरोप लगाते हुए उन्हें रावण की संज्ञा देकर कहा है कि रामवीर के इशारे पर बीएसपी से उन्हें निकाला गया है।

उपाध्याय शुक्रवार को हाथरस में एक गेस्ट हाउस में पत्रकारों से वार्ता कर रहे थे। उन्होंने बड़े भाई रामवीर उपाध्याय को बाहुबली और दूषित मानसिकता का व्यक्ति बताते हुए कहा कि वह मुझसे वैमनस्य मानते हैं। मुझे धमकियां मिल रही हैं कि वह कभी भी मेरी हत्या करवा सकते हैं। उन्होंने कहा कि बसपा तो पहले ही खत्म हो चुकी है। रामवीर और सीमा उपाध्याय को चुनौती देते हुए कहा कि वे दोनों अब कभी भी विधायक और सांसद नहीं बन पाएंगे। वह जहां भी जाकर चुनाव लड़ेंगे वहां मैं और मेरी पत्नी उनके सामने चुनाव लड़कर उन्हें हराने का काम करेंगे।

मुकुल उपाध्याय का आरोप है कि अलीगढ़ लोकसभा क्षेत्र से वह बसपा के टिकट पर चुनाव लड़ना चाहते थे, इसके बदले में बसपा की मुखिया मायावती ने उनसे 5 करोड़ रुपये मांगे। मेरे इनकार करने पर उनके भाई रामवीर उपाध्याय ने कहा कि अब मुकुल नहीं बल्कि उनकी पत्नी यानी सीमा उपाध्याय अलीगढ़ लोकसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ेंगी। उन्होंने कहा कि जो कुछ भी हुआ है उससे मैं बहुत दुखी हूं। जिस भाई के लिए मैंने फर्श बिछाए, मंच सजाया, कपड़े धोए, जूते साफ किए, एक आवाज पर जीने मरने की चिंता छोड़ कर अपने भाई के साथ खड़ा रहा लेकिन ऐसा कभी नहीं सोचा था कि जिस भाई की मैं राम समझ कर सेवा कर रहा हूं, वही एक दिन रावण बनकर मेरे साथ अनीति करने का काम करेगा।रॉयल बुलेटिन की नई एप प्ले स्टोर पर आ गयी है।royal bulletin news लिखे और नई app डाउनलोड करें


Share it
Top