राजद्रोह कानून को और सख्त व धारा 370 की समीक्षा करेंगे : राजनाथ सिंह

राजद्रोह कानून को और सख्त व धारा 370 की समीक्षा करेंगे : राजनाथ सिंह

कुशीनगर। लोकसभा चुनाव के अंतिम दिन शुक्रवार को कुशीनगर में भाजपा उम्मीदवार विजय दुबे की जीत के लिए गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने जनसभा की। कांग्रेस पर प्रहार करते हुए राजनाथ ने कहा कि यह पहला अवसर है कि आजाद भारत में महंगाई चुनावी मुद्दा नहीं है। उन्होंने राजद्रोह कानून को सख्त करने की बात कही। उन्होंने कहा कि जम्मू कश्मीर भारत का हिस्सा था है और आगे भी रहेगा। अब समय आ गया है कि धारा 370 और 35 ए की समीक्षा होनी चाहिए।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस के समय में बैंकों में चिट्ठी चली जाती और भुगतान हो जाता था। तब एक रुपये में पंद्रह पैसे पहुंचते थे, आज पूरे एक रुपये पहुंच रहे हैं। आज हालत बिल्कुल विपरीत है। भारत की आर्थिक नीतियों की आज अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष सराहना कर रहा है। देश गरीबी से तेज गति से उबर रहा है। हमारा संकल्प है कि हम देश में गरीबी नहीं रहने देंगे। यह भाजपा व मोदी के कुशल आर्थिक प्रबंधन की देन है। एयर स्ट्राइक पर सवाल उठाने वालों को आतंकियों का हमदर्द बताते हुए कहा कि सेना दुश्मन को मारने का कार्य करती है न कि लाश गिनने का।

गृह मंत्री ने कहा कि राष्ट्र विरोधी गतिविधियों पर नजर रखने के लिए राजद्रोह कानून के प्रावधानों को और कड़ा किए जाने की जरूरत है। इंदिरा ने 1971 में बहादुरी दिखाई तो विपक्ष ने जय जयकार किया था तो एयरस्ट्राइक के बाद मोदी का क्यों नहीं? बोले कि मोदी सरकार ने पांच साल में विकास के नए आयाम स्थापित किए हैं। पिछले पांच सालों में समाज के हर वर्ग को ध्यान में रखकर विकास की योजनाएं लागू की गईं। आज भारत जमीन के साथ आसमान में भी तेजी से मजबूत हो रहा है।

राजनाथ ने कहा कि कुशीनगर जनपद की समस्या से अवगत हूं। मुख्यमंत्री घर के हैं। सब कुछ ठीक हो जाएगा। चुनाव की यह मेरी आखिरी सभा है, अब तक परंपरा रही है कि आखिरी सभा का उम्मीदवार कभी पराजित नहीं हुआ।विश्वास दिलाइए कि परंपरा कायम रहेगी।


Share it
Top