विभिन्न हाईकोर्ट के 25 रिटायर्ड चीफ जस्टिस और जजों को सीनियर एडवोकेट का दर्जा

विभिन्न हाईकोर्ट के 25 रिटायर्ड चीफ जस्टिस और जजों को सीनियर एडवोकेट का दर्जा



नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट की फुल बेंच ने विभिन्न हाईकोर्ट के 25 रिटायर्ड चीफ जस्टिस और जजों को सीनियर एडवोकेट का दर्जा दिया है। इस आशय का नोटिस सुप्रीम कोर्ट के एडिशनल रजिस्ट्रार और सीनियर एडवोकेट का निर्धारण करने वाली कमेटी के सचिव राकेश कुमार ने जारी किया है।

सीनियर एडवोकेट का दर्जा इंदिरा जयसिंह बनाम सुप्रीम कोर्ट ऑफ इंडिया के फैसले और सुप्रीम कोर्ट रुल्स 2013 के मुताबिक किया गया है। विभिन्न हाईकोर्ट के जिन रिटायर्ड चीफ जस्टिस और जजों को सीनियर एडवोकेट का दर्जा दिया गया है उनमें इलाहाबाद और राजस्थान हाईकोर्ट के जज रह चुके सुनील अंबवानी, मद्रास और जम्मू-कश्मीर हाईकोर्ट के जज रह चुके एन पॉल बसंत कुमार, इलाहाबाद हाईकोर्ट के जज रह चुके एसयू खान, मद्रास हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज जी राजसूर्या, इलाहाबाद हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज एसपी मेहरोत्रा, जम्मू-कश्मीर हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज मुजफ्फरपुर हुसैन अत्तर, मद्रास हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज एम जयचंद्रन और एस नागामुत्तु, कर्नाटक हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज जैन वेणुगोपाल गौड़ा, इलाहाबाद हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज विमलेश कुमार शुक्ला, मध्य प्रदेश हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज केशव कुमार त्रिवेदी, दिल्ली और मध्य प्रदेश हाईकोर्ट के जज रह चुके मूलचंद गर्ग, पटना हाईकोर्ट की रिटायर्ड जज मृदुला मिश्रा शामिल हैं।

इसी तरह सुप्रीम कोर्ट की फुल बेंच ने राजस्थान हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज जैनेन्द्र कुमार रांका, पटना हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज घनश्याम प्रसाद, पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज रामेश्वर सिंह मलिक, मद्रास हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज डॉ पी ज्योतिमणि, बांबे हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज अनूप वी मोहता, तेलंगाना और आंध्र प्रदेश हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज एम रामलिंगेश्वर राव, केरल हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज पी एन रविंद्रन, तेलंगाना और आंध्र प्रदेश हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज एएस नारायण, बांबे हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज एफएम रेल्स, दिल्ली हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज पीएस तेजी, कर्नाटक हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज सुभाष और इलाहाबाद हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज प्रत्यूष कुमार को सीनियर एडवोकेट का दर्जा दिया गया है।


Share it
Share it
Share it
Top