अधिग्रहित जमीन के मुआवजे की मांग पर हंगामा...उन्नाव में किसानों पर लाठीचार्ज, 15 जख्मी

अधिग्रहित जमीन के मुआवजे की मांग पर हंगामा...उन्नाव में किसानों पर लाठीचार्ज, 15 जख्मी

उन्नाव। उत्तर प्रदेश में उन्नाव की ट्रांस गंगा सिटी में मुआवजे की मांग कर रहे किसानों का आक्रोश थमने का नाम नहीं ले रहा है।

पुलिस सूत्रों ने बताया कि उप्र राज्य औद्योगिक विकास प्राधिकरण (यूपीसीडा) की ट्रांस गंगा सिटी परियोजना के लिए अधिग्रहित की गई जमीन के बदले उचित मुआवजे की मांग को लेकर किसानो ने शनिवार को जमकर उत्पात मचाया था हालांकि पुलिस ने बल प्रयोग कर किसानो को खदेड़ दिया था। उन्होंने बताया कि आज सुबह किसानो के एक समूह ने एक बार फिर ट्रांस गंगा सिटी में धावा बोला और प्लास्टिक के पाइप के एक गोदाम को आग के हवाले कर दिया। पुलिस और दमकल के जवानो ने हालांकि कड़ी मशक्कत कर आग पर काबू पा लिया। किसानों का आरोप है कि वर्ष 2005 में बगैर समझौते के उनकी जमीनों का अधिग्रहण कर लिया गया था, लेकिन बदले में उसका उचित मुआवजा नहीं दिया जा रहा है। जिलाधिकारी देवेन्द्र कुमार पाण्डेय ने कहा कि घटना को अंजाम देने वाले अराजक तत्वों पर रिपोर्ट दर्ज कर करवाई की जाएगी। सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने वाले को सख्त सजा दी जाएगी। किसी को भी कानून अपने हाथ में लेने की इजाजत नहीं है। सूत्रों ने बताया कि उत्पाती किसानो के खिलाफ गंगाघाट कोतवाली में 36 नामजद और 400 अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। इस सिलसिले में अब तक एक किसान नेता समेत छह लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। शनिवार को किसानों और पुलिस में हुए संघर्ष के बाद जिला प्रशासन ने एहतियात के तौर पर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किये थे। इसके बावजूद किसानों ने ट्रांस गंगा सिटी के साइड आफिस से एक किमी दूर बन रहे विद्युत सब स्टेशन के लिए लाए गए प्लास्टिक पाइपों में आग लगा दी। पुलिस ने लाठी पटक कर आंदोलनकारी किसानो को खदेड़ दिया था लेकिन इस बीच आक्रोशित किसानों ने मिक्सर वाहन में आग लगा दी। गौरतलब है कि ट्रांस गंगा सिटी में मुआवजे की मांग कर रहे किसानों ने यूपीसीडा के महाप्रबंधक अभियंत्रण को घेर लिया था और वहां काम कर रहे मजदूरों को भी भगा दिया था। करीब 500 किसानो ने वाहनो में जमकर तोडफ़ोड की और कुछ वाहनो में आग लगा दी। बवाल बढता देख कई थानो की पुलिस और पीएसी ने मौके पर पहुंच कर हिंसा पर उतारू भीड़ को तितर बितर करने के लिये लाठीचार्ज किया और आंसू गैस के गोले छोड़े। किसानो के पथराव में कई पुलिसकर्मी घायल हो गए जबकि पुलिस के लाठीचार्ज में 15 किसान घायल हो गए।

Share it
Top