हिन्दू समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी की घर में घुसकर नृशंस हत्या...तिवारी के शरीर पर चाकू से किये गये 15 बार वार, फिर गोलियां बरसाई

हिन्दू समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी की घर में घुसकर नृशंस हत्या...तिवारी के शरीर पर चाकू से किये गये 15 बार वार, फिर गोलियां बरसाई

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के खुर्शीद बाग इलाके में रहने वाले हिंदू समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष कमलेश तिवारी की शुक्रवार दोपहर घर पर दो बदमाशों ने चाकू से गला रेतकर हत्या कर दी। बताया जा रहा है कि हत्यारे मिठाई के डिब्बे में चाकू और तमंचा लेकर आए थे। शरीर में चाकू के 15 से अधिक वार हैं। घायल अवस्था में परिजनों ने तिवारी को अस्पताल में भर्ती कराया, जहां उनकी मौत हो गई। हत्या की वजह अभी तक स्पष्ट नहीं है। डॉक्टरों के मुताबिक जब वह अस्पताल लाए गए थे तो गंभीर अवस्था में थे और इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई। पुलिस टीम सेलफोन की डिटेल खंगालने के साथ ही सर्विलांस की मदद से आरोपी की तलाश में जुट गई है। बताया जा रहा है कि दो लोगों ने पहले कमरे में चाय पी और फिर मिठाई के डिब्बे से कट्टा निकालकर फायर भी किया। इसके बाद तिवारी को गंभीर हालत में ट्रॉमा सेंटर भर्ती कराया गया था। उधर कमलेश तिवारी हत्याकांड से लोगों में आक्रोश फैल गया है। कमलेश के समर्थकों ने खुर्शीदबाग कॉलोनी में प्रदर्शन किया और रोडवेज की बसों में जमकर तोडफोड की। स्थिति को भांपकर मौके पर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। कमलेश तिवारी हत्याकांड में पुलिस को अहम सुराग मिला है। वारदात को अंजाम देने वाले संदिग्ध कातिल सीसीटीवी फुटेज में कैद हुए हैं। हुलिए के आधार पर आरोपियों की तलाश में जुटी पुलिस जल्द ही इस मामले में खुलासे का दावा कर रही है। एसएसपी कलानिधि नैथानी के निर्देश पर पुलिस की कई टीमें आरोपियों की सरगर्मी से तलाश में जुट गई हैं। ज्ञातव्य है कि पैगंबर साहब पर टिप्पणी की वजह से कमलेश पर रासुका भी लग चुका है। उस समय एक मुस्लिम संगठन ने सर कलम करने का फतवा भी जारी किया था। बिजनौर के उलेमा अनवारुल हक और मुफ्ती नईम कासमी पर कमलेश तिवारी का सिर कलम करने का फतवा जारी करने का आरोप लगा था। तिवारी ने इसी वर्ष फैजाबाद से लोकसभा चुनाव भी लडा था। वहीं इस मामले में उत्तर प्रदेश के डीजीपी ने कहा कि हिंदू महासभा के पूर्व नेता कमलेश तिवारी की आज गोली मारकर हत्या कर दी गई। उन्होंने कहा कि तिवारी ने हिंदू समाज पार्टी की स्थापना की थी। उन्होंने बताया कि हत्यारे मिठाई लेकर लाए थे और तिवारी के साथ में आधा घंटा बातचीत भी की थी। फिलहाल पुलिस मामले में जांच कर आरोपियों की तालाश में जुटी है। वहीं रात्रि के समय उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा कमलेश तिवारी के घर उनके परिजनों को सांत्वना देने पहुंचे, लेकिन कमलेश तिवारी के समर्थकों ने उपमुख्यमंत्री के खिलाफ मुर्दाबाद के नारे लगाये।

कमलेश तिवारी के हत्यारों के गुजरात कनेक्शन की जांच शुरू

सूरत। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में आज हिन्दू समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी की सनसनीखेज हत्या के तार गुजरात से जुड़े होने की जांच की जा रही है। पुलिस सूत्रों ने यूएनआई को बताया कि पूर्व में एक समुदाय विशेष के बारे में विवादास्पद टिप्पणी के चलते सुर्खियों में आये श्री तिवारी (45) के हत्यारे जो मिठाई और नमकीन का डिब्बा लेकर घटनास्थल यानी खुर्शीद बाग स्थित उनके कार्यालय गये थे और, जिसमें हत्या के लिए प्रयुक्त चाकू और अन्य हथियार छुपाये जाने की संभावना है, दरअसल गुजरात के सूरत के एक दुकान का है। उन्होंने बताया कि सूरत के उधना इलाके के धरती फरसाण नाम की इस दुकान के सीसीटीवी फुटेज की पूरी जांच की जा रही है, ताकि फरार हत्यारों की कोई कड़ी मिल सके। उत्तर प्रदेश पुलिस से मिली सूचना के बाद यह कार्रवाई की जा रही है। अगर वास्तव में इस डिब्बे में ही हथियार ले जाये गये हैं, तो हत्यारों का गुजरात से संबंध होने अथवा किसी तरह का जुड़ाव होने की प्रबल संभावना है। पूर्व में भी राज्य मेें हिन्दूवादी नेताओं की हत्या के षडयंत्र रचे जा चुके हैं। ज्ञातव्य है कि गुजरात पुलिस के आतंकवाद निरोधक दस्ते ने वर्ष 2०15 में भरूच जिले में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के दो नेताओं की हत्या के मामले का खुलासा करते हुए इसे हिन्दूवादी नेताओं की हत्या के एक व्यापक आतंकी षडयंत्र का हिस्सा बताया था।

Share it
Top