यूपी में 15 फीसदी तक बढ़ सकते हैं बिजली के दाम...इस सप्ताह के अंत तक ही होगी मूल्यों में बढोत्तरी

यूपी में 15 फीसदी तक बढ़ सकते हैं बिजली के दाम...इस सप्ताह के अंत तक ही होगी मूल्यों में बढोत्तरी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में सप्ताह के अंत तक बिजली के दाम दस से 15 फीसदी तक बढऩे का अनुमान है। अधिकृत सूत्रों ने रविवार को बताया कि वर्ष 2०19-2० के लिये बिजली कम्पनियों द्वारा प्रस्तावित बिजली दर बढ़ोत्तरी पर नियामक आयोग इसी सप्ताह फैसला सुना सकता है, जिसमें घरेलू बिजली की कीमतों में 15 फीसदी तक की बढोत्तरी होने के आसार हैं हालांकि रेगुलेटरी सरचार्ज 4.28 प्रतिशत समाप्त होना लगभग तय है। विद्युत उपभोक्ता परिषद ने बिजली की दरों में प्रस्तावित बढोत्तरी का विरोध करते हुये मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से हस्तक्षेप करने की मांग की है। परिषद के अध्यक्ष अवधेश वर्मा ने कहा कि पावर कार्पोरेशन साजिश के तहत ग्रामीण शहरी घरेलू किसानों की बिजली दरों में 1० से 15 प्रतिशत बढ़ोत्तरी करने की फिराक में है, जबकि उदय स्कीम के तहत उपभोक्ताओं के निकल रहे अतिरिक्त 11852 करोड़ रूपयों को अगले कई वर्षो में समायोजित करने की साजिश है। अब आयोग को निष्पक्ष होकर फैसला करना चाहिए, ताकि मौजूदा बिजली दरों में और कमी की जा सके। उन्होने कहा कि ग्रामीण की बिजली दरों में बढ़ोत्तरी कर पावर कार्पोरेशन बड़ा दांव खेलने की साजिश कर रहा है कि जब आम जनमानस का विरोध ज्यादा बढ़ेगा तो सरकार ग्रामीण एवं किसानों की दरों में थोड़ा कमी कर देगी और शहरी घरेलू पर बड़ा बोझ डालकर आम जनमानस के विरोध और आक्रोश को कम करने की कोशिश की जायेगी। उन्होंने कहा कि सरकार पूरे मामले पर हस्तक्षेप कर इस साजिश का पर्दाफाश करे वरना बड़ा आन्दोलन किया जायेगा।

Share it
Top