छत्तीसगढ़ : 13 अधिकारियों को पुलिस वीरता व 10 को मिला भारतीय पुलिस पदक

छत्तीसगढ़ : 13 अधिकारियों को पुलिस वीरता व 10 को मिला भारतीय पुलिस पदक


रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने गुरुवार को यहां पुलिस परेड ग्राउंड में स्वतंत्रता दिवस के मुख्य समारोह में उल्लेखनीय कार्य करने वाले पुलिस और जेल विभाग के 35 अधिकारियों को पुरस्कृत किया। उन्होंने पुलिस विभाग के 13 अधिकारियों को पुलिस वीरता पदक और 10 अधिकारियों को भारतीय पुलिस पदक प्रदान किया। भारतीय पुलिस सेवा के सेवानिवृत्त अधिकारी पूर्व उप पुलिस महानिरीक्षक एस.एस. सोरी को विशिष्ट सेवा के लिए राष्ट्रपति के विशिष्ट सेवा पदक से सम्मानित किया गया।

पुलिस वीरता पदक से सम्मानित होने वालों में निरीक्षक प्रकाश राठौर, ई.ओ.डब्ल्यू. में पुलिस अधीक्षक आई.के. एलेसेला, निरीक्षक अब्दुल समीर, सहायक उपनिरीक्षक हनीफ खान, उपनिरीक्षक शहीद पुष्पराज नागवंशी, निरीक्षक निलेश पाण्डेय, देवेन्द्र दर्रो, संग्राम सिंह ध्रुर्वे, आरक्षक शहीद आदित्यशरण प्रताप सिंह, उपनिरीक्षक शहीद मूलचंद कंवर, उप पुलिस अधीक्षक आकाश राव गिरेपुंजे, निरीक्षक सोनल ग्वाला तथा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अनिल कुमार सोनी शामिल हैं।

मुख्यमंत्री ने रेल पुलिस अधीक्षक मिलना कुर्रे, सेनानी मनोज कुमार खिलारी, उप पुलिस अधीक्षक नजमुस साकिब, कंपनी कमांडर मोहन सिंह, प्लाटून कमांडर इस्तेफन कुजूर, सहायक उप निरीक्षक बलराम बघेल, सहायक प्लाटून कमांडर ओंकार दास साहू, प्रधान आरक्षक ताज खान, संजय सिंह बघेल और जुलेखा बेगम को भारतीय पुलिस पदक से अलंकृत किया।

मुख्यमंत्री ने जेल विभाग की मुख्य प्रहरी फ्लोरा लकड़ा, प्रहरी दाऊराम कठोतरे और दुलार सिंह वर्मा को सराहनीय सुधार सेवा पदक से सम्मानित किया। कंपनी कमांडर शिव कुमार सोनी एवं प्रधान आरक्षक सत्यनारायण प्रजापति को यूनियन होम मिनिस्टर मेडल फॉर एक्सीलेंस इन पुलिस ट्रेनिंग से सम्मानित किया गया।

राज्य स्तरीय पुरस्कारों में प्रधान आरक्षक हरीश टेम्भूरकर को गुरू घासीदास पुरस्कार, निरीक्षक सुषमा सिंह को राज्यपाल पुरस्कार, निरीक्षक सतरूपा तारम को मुख्यमंत्री पुरस्कार, निरीक्षक सी. तिर्की को रानी सुवरन कुंवर पुरस्कार, सहायक उपनिरीक्षक वेदराम खूंटे को वीर नारायण सिंह पुरस्कार और प्रधान आरक्षक कन्हैया लाल उइके को पुलिस महानिदेशक पुरस्कार प्रदान किया गया।


Share it
Top