मिथरवाल को स्वर्ण, विश्व निशानेबाजी में 12 वर्षों का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन

मिथरवाल को स्वर्ण, विश्व निशानेबाजी में 12 वर्षों का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन

नयी दिल्ली। ओम प्रकाश मिथरवाल ने मंगलवार को कोरिया के चांगवान में चल रही 52वीं आईएसएसएफ विश्व निशानेबाज़ी चैंपियनशिप में पुरूषों की 10 मीटर पिस्टल स्पर्धा में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुये भारत को स्वर्ण पदक दिला दिया जबकि मिश्रित जूनियर स्पर्धा में एशियन खेलों के चैंपियन सौरभ ने कांस्य जीता। भारत ने चैंपियनशिप में अब तक आठ पदक जीते हैं और इसी के साथ उसने 12 वर्ष पहले 49वें जगरेब विश्व निशानेबाजी के अपने छह पदकों के सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन को पीछे छोड़ दिया है। सौरभ चौधरी और अभिन्दया पाटिल ने 10 मीटर एयर पिस्टल मिश्रित टीम जूनियर स्पर्धा में कांस्य पदक जीतकर आठवां पदक दिलाया। एशियाई खेलों के चैंपियन सौरभ और पदार्पण कर रही अभिन्दया ने पांच टीमों के फाइनल में 761 के स्कोर के साथ क्वालीफाई किया था।

इस स्पर्धा में अन्य भारतीय देवांशी राणा और अनमोल जैन की टीम ने 765 अंकों के साथ दूसरे नंबर पर रहकर क्वालीफाई किया। फाइनल में सौरभ और अभिन्दया ने 329.6 के स्कोर के साथ तीसरा स्थान हासिल कर कांस्य पदक अपने नाम किया जबकि स्वर्ण पदक और रजत मेजबान कोरिया ने जीता। हालांकि हीना सिद्धू, मनु भाकर और श्वेता सिंह की भारतीय टीम महिलाओं के 10 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा के फाइनल में ही नहीं पहुंच सकी। टोक्यो 2020 के ओलंपिक कोटा के लिये अहम इस चैंपियनशिप में मनु ने ही सर्वाधिक 574 का स्कोर पाया और 13वें नंबर पर रहीं। शीर्ष आठ खिलाड़ियों को फाइनल में प्रवेश मिलता है।

Share it
Share it
Share it
Top