उत्तर प्रदेश में बेटियों पर आफत...इटावा में दो बहनों की गोली मारकर हत्या

उत्तर प्रदेश में बेटियों पर आफत...इटावा में दो बहनों की गोली मारकर हत्या


इटावा। उत्तर प्रदेश में इटावा के बसरेहर क्षेत्र में दो सगी बहिनों की गोली मारकर हत्या के बाद हडकंप मच गया। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार त्रिपाठी ने आज यहां बताया कि कैलामऊ गांव में दो सगी बहिनें कल रात शौच के लिये गयी थी। देर तक नहीं लौटने पर परिवारवालों ने सोचा कि वे दोनो गांव मे हो रही शादी में शामिल होने के लिए चली गयी। तडके दोनों के शव गॉव के बाहर किसान अजब सिंह के खेत में पड़े मिले। मौके पर दो 315 के खोखे बरामद किये गए। बड़ी बहिन के सीने पर गोली लगी हुई है, जब कि छोटी को पीछे से गोली मारी गई। उन्होंने बताया कि इस दोहरे हत्याकांड की सूचना मिलने के बाद डॉग स्क्वायड के अलावा अन्य एक्सपर्ट मौके पर पहुंचकर जांच में जुटे हैं। खोजी कुत्ता वारदात स्थल पर घूमने के बाद गांव में कई घरो के अलावा आसपास ही चक्कर लगा रहा, जिससे लगता है कि वारदात को अंजाम देने वाला गांव का ही हो सकता है या फिर उसका गांव में आना जाना है। उन्होंने बताया कि दोनों बहनों के शव का परीक्षण तीन डाक्टरों के पैनल से कराया जा रहा है। दोहरे हत्याकांड से इलाके में सक्रिय बौद्ध आर्मी नामक संस्था खफा है। संस्था के अध्यक्ष सौरभ शाक्य का कहना है कि घटनाक्रम की जांच गहनता से की जाये। समाजवादी पार्टी के पूर्व विधायक रघुराज शाक्य भी मौके पर पहुंचे और इस हत्याकांड की निंदा की। जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे ने मौके पर पहुंचकर कहा कि मामले की जांच की जा रही है। इटावा सदर की भाजपा विधायक श्रीमती सरिता भदौरिया अपने निर्वाचन इलाके मे हुई इस सनसनीखेज वारदात के बाद मौके पर पीडित परिवार को सांत्वना देने के लिए पहुंची। उन्होंने कहा कि यह घटना बेहद ही शर्मनाक है। इस घटना की निष्पक्ष जांच होगी।
सगी बहनों के हत्यारों के खिलाफ होगी कडी कार्यवाही
इटावा। उत्तर प्रदेश के इटावा जिले मे दो सगी बहनों की गोली मारकर हत्या कर दिए जाने के मामले में उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने शोक जताते हुए हत्यारों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश इटावा पुलिस को दिये है।
इटावा सदर की भाजपा एमएलए सरिता भदौरिया ने उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य से हुई बातचीत का हवाला देते दोनो सगी बहनों के अंतिम संस्कार के बाद कैलामऊ गांव मे पत्रकारों को बताया कि सरकार इस घटना को लेकर बेहद दुखी है उन्होंने इटावा के एसएसपी अशोक कुमार त्रिपाठी को तत्काल दोहरे हत्याकांड से जुड़े हुए सभी आरोपियों को गिरफ्तार करने की निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि उप मुख्यमंत्री ने साफ-साफ जानना चाहा कि दोनों सगी बहनों की हत्या के मामले में पुलिस के स्तर पर की जा रही कार्रवाई से उनको सिलसिलेवार ढंग से लगातार अवगत कराया जाता जाया रहे। इस बीच आज शाम कैलामऊ गांव में हजारों लोगों की मौजूदगी में दोनों सगी बहनों का अंतिम संस्कार शोकाकुल माहौल में शवों को जमीन में दफन करके कर दिया गया। इस मौके पर इटावा सदर की भाजपा एमएलए श्रीमती सरिता भदौरिया, समाजवादी पार्टी के पूर्व विधायक रघुराज सिंह शाक्य के अलावा तमाम छोटे बड़े नेताओं के अलावा कई अन्य दलों के जनप्रतिनिधि भी मौजूद थे। इससे पहले दोपहर बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ संस्था के तमाम सदस्य दोनों मृतक सगी बहनों के घर जा पहुंची। जहां उन्होंने यह कह कर के गांव वालों के साथ में धरना शुरू कर दिया। दोनों के शवों का अंतिम संस्कार तब तक नहीं किया जाएगा जब तक कातिल पकड़े नहीं जाते। सैफई के पुलिस उपाधीक्षक निर्मल सिंह धरने पर बैठी एनजीओ सदस्यों को समझाया, जिसके बाद सभी लोग मान गए।

Share it
Share it
Share it
Top