बजट सत्र: एनकाउंटर के मुद्दे पर विधान परिषद में विपक्ष पर जमकर बरसे योगी

बजट सत्र: एनकाउंटर के मुद्दे पर विधान परिषद में विपक्ष पर जमकर बरसे योगी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश विधान परिषद में बजट सत्र के पांचवे दिन गुरुवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एनकाउंटर के मुद्दे पर विपक्ष पर जमकर बरसे। उन्होंने कहा कि कुछ लोग अपराधियों के लिए सहानुभूति प्रकट कर रहे हैं, जो दुर्भाग्यपूर्ण है और लोकतंत्र के लिए खतरा भी।
योगी ने कहा कि एनकाउंटर पर जो सवाल विधान परिषद में उठाये गए, वे ठीक नहीं हैं। नेता विपक्ष खुद पुलिस सेवा में रहे हैं, वह सच्चाई जानते हैं। सभापति रमेश यादव द्वारा प्रदेश में हुए तीन एनकाउंटर की सीबीआई जांच के आदेश पर मुख्यमंत्री ने कहा कि पीठ से इस तरह के निर्देश नहीं आने चाहिए। ऐसे निर्देशों से उच्च सदन हंसी का पात्र बनेगा।
दरअसल विधान परिषद ने मंगलवार को एनकाउंटर के तीन मामलों में सीबीआई जांच के निर्देश दिये थे। परिषद के इस फैसले पर भाजपा एमएलसी देवेंद्र प्रताप सिंह ने आज नोटिस दी थी। इस नोटिस पर विधान परिषद के सभापति ने अपना फैसला सुरक्षित किया है।
मुख्यमंत्री ने अपने संबोधन में कहा कि जिस प्रकरण का उल्लेख यहां पर हुआ था और 13 फरवरी को पीठ ने जो निर्देश दिया था, पुलिस ने कभी उसे एनकाउंटर नहीं माना था। सभापति के निर्देश पर उन्होंने कहा कि जिसका अधिकार पीठ को नहीं है, उस पर कोई निर्देश नहीं देना चाहिए।
विपक्ष पर हमला बोलते हुए मुख्यंत्री ने कहा कि अपराधियों को कौन संरक्षण देता था। नेता विपक्ष से अच्छा इसे कौन जानता है। योगी ने कहा कि प्रदेश में 1200 एनकाउंटर हुए जिनमें 40 से ज्यादा दुर्दांत बदमाश मारे गए हैं और ये कार्रवाई आगे भी जारी रहेगी। योगी आदित्यनाथ ने कहा 22 करोड़ जनता को सुरक्षा देना सरकार का दायित्व है।
गौरतलब है कि मंगलवार को विधान परिषद के सभापति रमेश यादव ने विपक्ष की मांग पर नोएडा में हुए एनकाउंटर की सीबीआई जांच कराने के निर्देश दिए थे। विपक्ष ने आरोप लगाया था कि सरकार अपनी नाकामी छिपाने के लिए एनकाउंटर का सहारा ले रही है।

Share it
Top