बैंक की गलती से बने एक खाते के दो मालिक, एक पैसे डालता रहा और दूसरा निकालता रहा

बैंक की गलती से बने एक खाते के दो मालिक, एक पैसे डालता रहा और दूसरा निकालता रहा


भिंड । मध्यप्रदेश के भिंड से एक बड़ी ही अजीब खबर आ रही है। यहां एक युवक ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के 15 लाख रुपए देने वाले बयान को ज्यादा ही गंभीरता से लिया। वह किसी दूसरे के खाते से पैसा यह समझकर निकालता रहा कि मोदी जी दे रहे हैं। दरअसल हुआ कुछ यूं कि मध्य प्रदेश के भिंड गांव में एसबीआई ने गलती से एक ही खाते को दो लोगों के नाम से जारी कर दिया था जिसमें एक शक्स पैसा डालता रहा और दूसरा निकालता रहा।

बता दें कि मध्यप्रदेश के भिंड के रूरई गांव के हुकुम सिंह और रोनी गांव के हुकुम सिंह दोनों ने आलमपुर ब्रांच में खाता खुलवाया। जिसमें बैंकर बाबू ने से गलती यह हुई कि पासबुक में फोटो अलग-अलग लगाई और दोनों का पता और खाता नंबर एक ही कर दिया। कुल मिलाकर हुआ यह कि अब एक ही खाते के दो मालिक हो गए।

बता दें कि खाता खुलवाने के बाद रूरई का हुकुम सिंह काम करने के लिए हरियाणा चला गया और वह वहां से घर बनबाने के लिए पैसे बचाकर अपने खाते में डालता रहा, वहीं दूसरा हुकुम सिंह अगले 6 महीने तक यह समझकर पैसे निकालता रहा कि उसक खाते में पैसे मोदी जी डाल रहे हैं। इस दौरान दूसरे हुकुम सिंह ने कुल 89 हजार रुपए की मोदी रकम निकाल ली।

इस पूरे मामले का खुलासा तब हुआ जब रूरई का हुकुम सिंह जमीन खरीदने के लिए अपने बैंक खाते से पैसे निकालने के लिए बैंक पहुंचा जहां बैंक वालों ने उसे बताया कि उसके खाते में मात्र 35 हजार रुपए जबकि उसका कहना था कि अब तक वह 1,40,000 रुपए जमा कर चुका है।

जब बैंक मैनेजर से यह सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि ग्राहक का पैसा उसे वापस दे दिया जाएगा। मगर बाद में पता चला कि पैसा तो दूसरे हुकुम सिंह ने निकाल लिए हैं। और जब दूसरे हुकुम सिंह से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि मैने तो पैसा अपने खाते से निकाला है मुझे पैसे की जरुरत थी और मुझे लगा कि मेरे खाते में पैसा मोदी जी भेज रहे हैं।

Share it
Top