मॉर्निंग वॉक करने पहुंचे राज्यपाल ने की लोगों से बात..ममता सरकार पर साधा निशाना बोले, मैं इस राज्य का अंपायर हूं, कोई बॉलर नहीं


कोलकाता। पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ अपनी पत्नी सुदेश धनखड़ को साथ लेकर गुरुवार सुबह कोलकाता के मशहूर रविंद्र सरोवर में करीब छह बजे प्रातः भ्रमण करने के लिए पहुंचे। वहां कई पर्यावरणविद, साहित्यकार और अन्य बुद्धिजीवी मौजूद थे जिन्होंने राज्यपाल का स्वागत किया।

इस दौरान राज्यपाल ने मॉर्निंग वॉक करने वाले लोगों से बात की। सरोवर के पास प्रदूषण, राज्य के वर्तमान हालात और नई पुरानी बातों पर करीब डेढ़ घंटे तक चर्चा होती रही। कुछ लोगों ने राज्य सरकार के साथ राज्यपाल के टकराव का भी जिक्र किया और कहा कि बंगाल में अगर कोई अच्छा काम करता है तो उस पर अति सक्रियता का तकमा लगा दिया जाता है। राज्यपाल को बताया गया कि यहां सुबह के समय करीब 10 हजार लोग मॉर्निंग वॉक करने आते हैं जिसमें से 30 फ़ीसदी वरिष्ठ नागरिक होते हैं।

यहां मॉर्निंग वॉक के बाद राज्यपाल पास में मौजूद कालीबाड़ी में भी पहुंचे और मां काली का दर्शन किया। वहां शंख बजाकर और मंत्रोचार के साथ राज्यपाल का स्वागत किया गया। उन्होंने वरिष्ठ नागरिकों से बातचीत की और समस्याएं भी सुनीं। राज्यपाल को सामने देखकर कुछ लोगों ने तमाम तरह की शिकायतें भी की जिसे उन्होंने संबंधित विभाग के पास रखने का आश्वासन दिया है। इस दौरान धनखड़ ने सरकार के साथ अपनी तनातनी पर टिप्पणी करते हुए कहा कि क्रिकेट टीम की तरह एक-एक करके राज्य सरकार मेरे सामने बैट्समैन भेज रही है और वे मेरे ऊपर टिप्पणी कर रहे हैं। मैं इस राज्य का अंपायर हूं, कोई बॉलर नहीं।''

राज्यपाल ने कहा, ''मैं मुख्यमंत्री के साथ बात करने को तैयार हूं। वो आएं तो सही. बात करें कोई दिक्कत नहीं है।

Share it
Top