पांच होमगार्ड अधिकारी गिरफ्तार ... दस्तावेज जलाने के मामले की उच्च स्तरीय जांच के दिये आदेश

पांच होमगार्ड अधिकारी गिरफ्तार ... दस्तावेज जलाने के मामले की उच्च स्तरीय जांच के दिये आदेश

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में गौतमबुद्धनगर के होमगार्ड कार्यालय में दस्तावेजों को जलाने की घटना के सिलसिले में बुधवार को पांच होमगार्ड अधिकारियों को गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस ने घटना की उच्च स्तरीय जांच के आदेश दिये है। पुलिस महानिदेशक ओ.पी. सिंह ने बुधवार को कहा कि गौतमबुद्धनगर में होमगार्ड कार्यालय में आग की घटना की उच्च स्तरीय जांच के आदेश दिये गये हैं। उन्होंने कहा कि गुजरात से फोरेंसिक टीम को जांच के लिये कहा गया है, जो आग लगने के कारणों की पडताल करेगी। उन्होने कहा ' होमगार्ड ड्यूटी घोटाले को लेकर सरकार अति गंभीर है। खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने घटना को संज्ञान में लिया है। इस बीच गौतमबुद्धनगर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक वैभव कृष्णा ने लखनऊ स्थित पुलिस मुख्यालय को सूचित किया है कि इस सिलसिले में होमगार्ड के मौजूदा मंडल कमांडेंट रामनारायण चौरसिया, सहायक कंपनी कमांडर सतीश, प्लाटून कमांडर मोंटू, सतवीर और शैलेन्दर को गिरफ्तार कर लिया गया है। एसएसपी ने कहा कि आरोपियों ने पूछताछ में खुद के शामिल होने समेत कई अहम जानकारियों का खुलासा किया है। गौरतलब है कि पिछले मंगलवार को होमगार्ड कार्यालय में लगी आग से वेतन संबंधी दस्तावेज जलकर राख हो गये थे। इससे पहले 13 नवम्बर को नोएडा पुलिस ने करोड़ों रूपये के होमगार्ड वेतन घोटाले का पर्दाफाश किया था। पुलिस का कहना है कि आग लगने की घटना प्रथम ²ष्टया यह आपराधिक कृत्य प्रतीत होती है, क्योंकि आग में केवल वेतन संबंधी दस्तावेज जले है। इस संबंध में प्राथिमिकी दर्ज कर ली गई है। जांच में आग के कारणों का पता चल सकेगा।

Share it
Top