पुलिस अधिकारियों को धमकाने का मामला.....सीएम से मिली मंत्री स्वाति सिंह, योगी ने लगाई फटकार

पुलिस अधिकारियों को धमकाने का मामला.....सीएम से मिली मंत्री स्वाति सिंह, योगी ने लगाई फटकार

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्वतंत्र प्रभार की राज्य मंत्री स्वाति सिंह के एक पुलिस अधिकारी से बातचीत के वायरल आडियो की जांच के आदेश शनिवार को राज्य के पुलिस महानिदेशक को दिये। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) महिला कल्याण, बाल विकास एवं पुष्टाहार स्वाति सिंह को तलब किया। शनिवार को मंत्री स्वाति सीएम से मिलने पहुंचीं। इस दौरान सीएम योगी ने मंत्री को कड़ी फटकार लगाई। माना जा रहा है कि यदि स्वाति सिंह दोषी पाई जाती हैं तो उनकी मंत्रिमंडल से छुट्टी भी हो सकती है। मुख्यमंत्री ने शनिवार सुबह गोरखपुर रवाना होने के पहले पुलिस महानिदेशक ओ.पी. सिंह को अपने सरकारी आवास पांच कालीदास मार्ग बुलाया और कहा कि इस मामले की पूरी जांच कर रिपोर्ट जल्द ही विस्तार से दें। मुख्यमंत्री महिला मंत्री की इस हरकत से नाराज हैं, क्योकि इससे सरकार की छवि पर असर पड़ता है। पुलिस महानिदेशक ने लखनऊ के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक से जांच करने को कहा है कि वो जांच कर बतायें कि क्या आडियो सही है। मंत्री अगर महिला हैं तो पुलिस अधिकारी भी महिला ही हैं। वायरल आडियो में स्वाति सिंह कैंट की क्षेत्राधिकारी बीनू सिंह से पूछ रही हैं कि रियल इस्टेट की कंपनी अंसल ग्रुप के खिलाफ प्राथमिकी क्यों दर्ज की जा रही है, जबकि ऊपर से आदेश है कि कोई नई प्राथमिकी दर्ज नहीं की जाये। उसके जवाब में पुलिस अधिकारी ने कहा कि जांच के बाद प्राथमिकी दर्ज की गई है। इसके बाद स्वाति सिंह ने पुलिस अधिकारी को डांटा और धमकी दी कि यदि यहां काम करना है तो मेरे पास आईये और सब ठीक से समझ लीजिए। पुलिस अधिकारी ने कहा कि स्वाति सिंह मंत्री हैं और उनके फोन आते रहते हैं। दूसरी ओर स्वाति सिंह ने धमकी देने के आरोप को गलत बताया। उनका कहना था कि पुलिस अधिकारी खुद को पुलिस महानिदेशक का रिश्तेदार बताती हैं और गरीबों की प्राथमिकी नहीं दर्ज करती हैं। मैंने खुद पुलिस महानिदेशक से उन्हें हटाने की सिफारिश की है। उन्हें जनप्रतिनिधि का आडियो वायरल करने का अधिकार किसने दिया। रियल इस्टेट अंसल ग्रुप के मालिक और उनके बेटे धोखाधड़ी के आरोप में अभी जेल में बंद हैं।

Share it
Top