पीएफ घोटालाः ट्रस्ट के तत्कालीन सचिव पीके गुप्ता का बेटा अभिनव गिरफ्तार, भविष्य निधि के लिये कर्मचारियों के परिवार वाले कल करेंगे प्रदर्शन

पीएफ घोटालाः ट्रस्ट के तत्कालीन सचिव पीके गुप्ता का बेटा अभिनव गिरफ्तार, भविष्य निधि के लिये कर्मचारियों के परिवार वाले कल करेंगे प्रदर्शन

लखनऊ । उत्तर प्रदेश पावर कॉर्पोरेशन लिमिटेड के कर्मचारियों के भविष्य निधि का पैसा डीएचएफएल में निवेश कराने में दलाल की भूमिका निभाने वाले अभिनव गुप्ता को आर्थिक अपराध शाखा ने गिरफ्तार कर लिया है जबकि कर्मचारियों के परिवार वाले कल गुरूवार को जिम्मेदार लोगों को जल्द गिरफ्तार की मांग के लिये प्रदर्शन करेंगे । बिजली कर्मचारी संघर्ष समित के संयोजक शैलेन्द्र दूबे ने बुधवार को कहा कि कर्मचारियों के परिवार वाले बिजली विभाग के मुख्यालय कल प्रदर्शन करेंगे ।

उन्होंने आरोप लगाया कि घोटाले के जिम्मेवार लोगों को गिरफ्तार करने में सरकार शिथिलता बरत रही है । इसके अलावा सीबीआई को जांच सौंपने में भी देर की जा रही है । अभिनव गुप्ता पहले ही गिरफ्तार हो चुके ट्रस्ट के तत्कालीन सचिव पीके गुप्ता का बेटा है। पीके गुप्ता की गिरफ्तारी के बाद से ही आर्थिक अपरध शाखा अभिनव को पूछताछ और बयान दर्ज कराने के लिए लगातार नोटिस भेज रही थी। नोएडा पुलिस की लगातार दबिश के बीच अभिनव मंगलवार को खुद यहां आर्थिक अपराध शाखा के कार्यालय आ गया ।

भविष्य निधि घोटाले में अभिनव को अहम कड़ी माना जा रहा है। वह नोएडा के सेक्टर-121 में रहकर रियल एस्टेट का कारोबार करता है। सूत्रों की मानें तो ट्रस्ट और डीएचएफएल के बीच सौदे के बदले उसने मोटा कमीशन लिया था। कमीशन की रकम रियल एस्टेट के कारोबार में लगाने के लिए उसने नोएडा के कुछ कारोबारियों को अपना साझीदार भी बनाया था। अभिनव ने पूछताछ में कई अहम राज उगले हैं। सूत्रों का कहना है कि डीएचएफएल में निवेश के लिए जिन कंपनियों ने काम किया , उनमें अभिनव की भी हिस्सेदारी थी। अभी तक की जांच में नौ कंपनी फर्जी पाई गई हैं। आर्थिक अपराध शाखा उसके बैंक खातों, संपत्तियों और अन्य स्थानों पर किए गए निवेश के बारे में जानकारी जुटा रहा है।

Share it
Top