महाराष्ट्र में लगा राष्ट्रपति शासन....केन्द्रीय मंत्रिमंडल की अनुशंसा पर छह माह के लिये लगा राष्ट्रपति शासन

महाराष्ट्र में लगा राष्ट्रपति शासन....केन्द्रीय मंत्रिमंडल की अनुशंसा पर छह माह के लिये लगा राष्ट्रपति शासन

नई दिल्ली। महाराष्ट्र में तेजी से बदलते राजनीतिक घटनाक्रम के बीच राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने राज्य में राष्ट्रपति शासन की सिफारिश पर आज अपनी मोहर लगा दी।

आधिकारिक सूत्रों ने यहां बताया कि श्री कोविंद ने केंद्रीय मंत्रिमंडल की अनुशंसा पर महाराष्ट्र में छह माह के लिए राष्ट्रपति शासन को मंजूरी दी है। इस दौरान विधान सभा निलंबित रहेगी। गौरतलब है कि केंद्रीय मंत्रिमंडल ने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी की सिफारिश पर विचार करते हुए राष्ट्रपति शासन की अनुशंसा की थी, जिसे शाम को श्री कोविंद ने मंजूरी दी। भारतीय जनता पार्टी के सरकार गठन से पीछे हटने के बाद राज्यपाल ने विधायकों की संख्या के हिसाब से दूसरी सबसे पार्टी शिवसेना को सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया था। श्री कोश्यारी ने शिवसेना को सरकार बनाने के लिए अपना दावा पेश करने के वास्ते 24 घंटे की मोहलत दी थी। शिवसेना नेताओं ने कल राज्यपाल से मुलाकात करके राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) और कांग्रेस का समर्थन हासिल करने के लिए उनसे कम से कम 48 घंटे की और मोहलत मांगी थी, लेकिन इससे श्री कोश्यारी ने इन्कार कर दिया था। बाद में राज्यपाल ने राकांपा को भी सरकार बनाने का न्योता दिया, लेकिन कोई समाधान नजर आता न देख उन्होंने राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाये जाने की सिफारिश केंद्र सरकार से की थी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की ब्राजील यात्रा के मद्देनजर आज ही आयोजित केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में राष्ट्रपति शासन की अनुशंसा करने का निर्णय लिया गया था। इसके बाद श्री कोविंद ने इसे मंजूरी दे दी। इस बीच शिवसेना ने सरकार गठन की कवायद के लिए उसे और अधिक मोहलत न दिये जाने के राज्यपाल के फैसले के खिलाफ शीर्ष अदालत का दरवाजा खटखटाया है।

Share it
Top