टेरर फंडिंग के मामले में गिरफ्तार जावेद अली के पिता ने कहा...मेरा बेटा यदि दोषी है तो उसे गोली मार दो

टेरर फंडिंग के मामले में गिरफ्तार जावेद अली के पिता ने कहा...मेरा बेटा यदि दोषी है तो उसे गोली मार दो

मुजफ्फरनगर। गत दिवस टेरर फंडिंग के मामले में गिरफ्तार किये गये जावेद उर्फ जावेद अली निवासी गांव खामपुर, थाना छपार को राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआइए) ने सऊदी अरब से प्रत्यर्पित कराकर गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार जावेद अली के पिता ने कहा कि उनका बेटा पूरी तरह बेकसूर है। उन्होंने इस मामले की जांच कराये जाने की मांग की है। उन्होंने कहा कि यदि जांच के बाद उनका बेटा दोषी पाया जाता है तो उसे गोली मार दी जाये।

मिली जानकारी के अनुसार गत दिवस टेरर फंडिंग के मामले में गिरफ्तार किये गये जावेद उर्फ जावेद अली निवासी गांव खामपुर को राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआइए) ने सऊदी अरब से प्रत्यर्पित कराकर गिरफ्तार कर लिया है। सोमवार को उसकी गिरफ्तारी की जानकारी एनआइए अधिकारी ने मोबाइल पर उसे गांव में जावेद के पड़ोसी अमीर आलम को दी। उन्होंने जावेद को गिरफ्तार किए जाने की जानकारी उसके पिता या किसी अन्य जिम्मेदार को देने की बात कही। हालांकि इसके बाद उक्त मोबाइल पर परिजनों की बात नहीं हो सकी। जावेद के पिता इमरान का कहना है कि एलआइयू एवं अन्य एजेंसी कई बार जांच कर चुकी हैं। उन्होंने कहा कि उनका बेटा पूरी तरह बेकसूर है। उन्होंने इस मामले की जांच कराये जाने की मांग की है। उन्होंने कहा कि यदि जांच के बाद उनका बेटा दोषी पाया जाता है तो उसे गोली मार दी जाये। आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के लिए धन जुटाने के आरोप में नामजद किए गए जावेद की तलाश में एनआइए दो वर्ष से लगी थी। जावेद का नाम टेरर फंडिंग से जुडऩे के बाद एनआइए ने कई बार गांव में उसके घर पर छापेमारी की, लेकिन सऊदी अरब में होने के कारण जावेद पकड़ से दूर रहा। वर्ष 2017 में थाना छपार क्षेत्र के गांव खामपुर निवासी जावेद उर्फ जावेद अली पुत्र इमरान के विरुद्ध मुकदमा दर्ज किया गया था। इस मामले में आरोपित शेख अब्दुल नई उर्फ सोहेल, बेदार बख्त, तौसीफ अहमद मलिक, दिनेश गर्ग, अंकित गर्ग व आदिश कुमार जैन आदि पहले ही गिरफ्तार किए जा चुके हैं। इस प्रकरण में अब अमजद उर्फ रेहान, हबीब उर्रहमान, गुलनवाज और मोहम्मद इमरान फरार चल रहे हैं। एनआइए ने जावेद को आतंकवादी संगठन लश्कर-ए-तैयबा से संबद्ध किया था। आरोप था कि जावेद 2017 में सऊदी अरब से यूपी के हवाला चैनल्स के माध्यम से धन की व्यवस्था करने में शामिल था। जिसे आरोपित शेख अब्दुल नईम ने प्राप्त किया था।

Share it
Top