सियासी रस्साकशी के बीच संजय राउत से मिलने अस्पताल पहुंचे भाजपा नेता आशीष शेलार

सियासी रस्साकशी के बीच संजय राउत से मिलने अस्पताल पहुंचे भाजपा नेता आशीष शेलार

मुंबई। भाजपा नेता आशीष शेलार शिवसेना सांसद संजय राउत का हालचाल पूछने लीलावती अस्पताल पहुंचे हैं। शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे भी अपने परिवार के साथ लीलावती अस्पताल पहुंचे थे। इस बीच सोमवार को शिवसेना को समर्थन पत्र देने के मुद्दे को लेकर कांग्रेस और एनसीपी में मतभेद के स्वर सुनाई दे रहे हैं। इसे लेकर दोनों दल एक दूसरे को दोषी ठहरा रहे हैं।

राउत की एंजियोप्लास्टी हुई है। राउत को आईसीयू से निकालकर नार्मल वार्ड में लाया गया है। राउत से मिलने कई दिग्गज नेता लीलावती अस्पताल पहुंच रहे हैं। बताया जाता है कि दो-तीन दिनों में राउत को घर जाने की अनुमति दी जा सकती है। राउत से एनसीपी मुखिया शरद पवार, रोहित पवार, सुप्रिया सुले, छगन भुजबल, शिवसेना नेता मनोहर जोशी सहित पार्टी के कई दिग्गज नेता मुलाकात कर चुके हैं। शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे भी राउत का हालचाल पूछने लीलावती अस्पताल पहुंचे थे। उद्धव के अस्पताल से बाहर निकलते ही भाजपा नेता आशीष शेलार भी लीलावती अस्पताल में दाखिल हुए। इससे पहले संभावना जताई जा रही थी कि उद्धव और शेलार के बीच बातचीत हो सकती है। उद्धव अपने आवास मातोश्री पहुंच गए हैं। उद्धव ने संकेत दिया है कि कुछ समय बाद वे मीडिया से बातचीत करेंगे और पार्टी की अगली रणनीति का खुलासा करेंगे। उद्धव ने बताया कि ऱाउत की तबीयत ठीक है।

सोमवार को कांग्रेस और एनसीपी का समर्थन पत्र समय पर नहीं मिलने के कारण शिवसेना की कोशिश विफल हो गई। इसके लिए कांग्रेस और एनसीपी पर संदेह जताया जा रहा है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता माणिकराव ठाकरे का कहना है कि एनसीपी मुखिया शरद पवार के कारण गलतफहमी की स्थिति बनी, जिसके कारण समर्थन देने में विलम्ब हुआ। ठाकरे ने कहा कि तीनों दलों की आपसी सहमति के बाद सरकार बनाने का आगे निर्णय लिया जाएगा। एनसीपी विधायक दल नेता अजीत पवार ने इसके जवाब में कहा कि देरी कांग्रेस की ओर से हुई है। कांग्रेस के पत्र का इंतजार हम भी कर रहे थे। अकेले एनसीपी के पत्र से कुछ नहीं होता। कांग्रेस का समर्थन पत्र जरूरी था। इधर खबर आ रही है कि कुछ उद्यमियों ने भाजपा और शिवसेना को मिलाने के लिए मध्यस्तता करने की इच्छा जताई है।

एनसीपी नेता छगन भुजबल ने बचाव में कहा कि किसी की गलती नहीं हुई है। जल्द कांग्रेस-एनसीपी-शिवसेना गठबंधन की सरकार बनेगी। तीनों दलों के बीच बातचीत चल रही है। समय अभी समाप्त नहीं हुआ है। शिवसेना के वरिष्ठ नेता व पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर जोशी ने कहा कि मुझे पूर्ण विश्वास है कि जल्द सभी पेंचों का हल निकल जाएगा। धीरे-धीरे स्थितियां बदल रही हैं। हम इससे बाहर निकलेंगे और शिवसेना के नेतृत्व में सरकार बनेगी।


Share it
Top