कमलेश तिवारी हत्याकांड में बरेली का मौलाना हिरासत में ... मौलाना पर है हत्यारों की मदद करने का आरोप

कमलेश तिवारी हत्याकांड में बरेली का मौलाना हिरासत में ... मौलाना पर है हत्यारों की मदद करने का आरोप

लखनऊ। हिंदू समाज पार्टी के अध्यक्ष व कमलेश तिवारी की पिछले शुक्रवार 18 अक्तूबर को राजधानी लखनऊ में हुई हत्या के मामले में आतंकवाद निरोधक दस्ते (एटीएस) ने बरेली से मंगलवार को एक मौलाना को हिरासत में लिया है। मौलाना की संदिग्ध हरकतों पर एटीएस ने अपना शिकंजा कसा है। अब मौलाना से लखनऊ में पूछताछ की जाएगी। पुलिस सूत्रों के अनुसार कमलेश तिवारी की हत्या के आरोपितों के मददगार प्रेमनगर निवासी मौलाना कै$फी अली रिज़वी को रात एक बजे लखनऊ एसटीए$फ टीम ने हिरासत में लिया। टीम आज तड़के उसे लखनऊ ले गई। शुक्रवार रात को बरेली आए आरोपित मौलाना के घर कुछ देर रुके थे। लखनऊ में कमलेश तिवारी की हत्या के बाद आरोपितों की लोकेशन लखनऊ के बाद शाहजहांपुर, बरेली व मुरादाबाद के बाद अम्बाला मिलने की सूचना पर पुलिस की टीमें बेहद सक्रिय हैं। सूत्रों के अनुसार कमलेश तिवारी की हत्या करने के बाद दोनों आरोपी मौलाना से मिलने बरेली आए थे। मौलाना पर आरोपियों की मदद करने का आरोप है। दूसरी ओर शिवसेना ने हिंदूवादी नेता और हिंदू समाज पार्टी के अध्यक्ष कमलेश तिवारी की हत्या के मामले में आज मंगलवार को राजधानी लखनऊ में धरना दिया और मृतक के परिवार को 5० लाख रूपए का मुआवजा देने के अलावा हत्याकांड की जांच सीबीआई से कराने की मांग की। शिवसेना के प्रदेश अध्यक्ष अनिल सिंह ने कहा कि उत्तर प्रदेश में कानून वयवस्था की हालत बहुत खराब है। उच्चतम न्यायालय भी राज्य की कानून व्यवस्था पर अपनी नाराजगी जाहिर कर चुका है। राज्य में हिंदूवादी सरकार में किसी हिंदूवादी नेता की हत्या सरकार पर एक तमाचा है।

Share it
Top