यह सच है कि देश में आर्थिक संकट है.पूरी दुनिया इसका सामना कर रहा है : बाबा रामदेव

यह सच है कि देश में आर्थिक संकट है.पूरी दुनिया इसका सामना कर रहा है : बाबा रामदेव


नई दिल्ली (ईएमएस)। योग गुरु बाबा रामदेव भी मंदी को लेकर यह बात कबूली है कि देश में आर्थिक संकट है। रामदेव ने कहा कि आर्थिक चुनौतियों के इस दौर में जरूरी है कि देश में राजनीतिक स्थिरता हो और लोग प्रदेशों में भी मजबूत सरकार के लिए वोट करें। साथ ही उन्होंने पूर्ववर्ती सरकार को निशाने पर भी लेते हुए कहा कि ऐसे लोग जो देश के बारे में सोचने वाले हों, उन्हें सत्ता मिले। आजकल देश की अर्थव्यवस्था में मंदी की चर्चा-ए-आम है। दरअसल, पिछले कुछ महीनों में अर्थव्यवस्था से जुड़े कई आंकड़े आए हैं, जिससे इस चर्चा को बल मिला है। इनमें जीडीपी ग्रोथ में कमी, ऑटो सहित कई कंपनियों की बिक्री में गिरावट, शेयर बाजार में कमजोरी और कुछ कंपनियों में कर्मचारियों की छंटनी प्रमुख हैं। पर सवाल है कि क्या वाकई भारतीय अर्थव्यस्था मंदी में जा चुकी है? सत्ताधारी दल अर्थव्यवस्था से जुड़ी उपलब्धियों को गिना रहा है तो विपक्ष आर्थिक सुस्ती, सरकार की उदासीनता से भारतीयों के भविष्य और आकांक्षाओं पर असर पड़ता बता रहा है। लेकिन इन सब के बीच बाबा रामदेव ने भी आर्थिक संकट की बात कबूल की है। एक निजी चैनल से बातचीत में उन्होंने कहा कि यह सच है कि देश में आर्थिक संकट है और पूरी दुनिया इसका सामना कर रहा है।

रामदेव ने कहा कि आर्थिक चुनौतियों के इस दौर में जरूरी है कि देश में राजनीतिक स्थिरता हो और लोग प्रदेशों में भी मजबूत सरकार के लिए वोट करें। साथ ही उन्होंने पूर्ववर्ती सरकार को निशाने पर भी लेते हुए कहा कि ऐसे लोग जो देश के बारे में सोचने वाले हों, उन्हें सत्ता मिले। जिन्होंने बड़े-बड़े घोटाले किए हों, देश को तबाह किए हों उन्हें सत्ता नहीं मिले। मोदी सरकार के समर्थन में बयान देते हुए रामदेव बोले कि पिछले पांच साल में एक बड़े घोटाले सामने नहीं आए। पूरी दुनिया में आर्थिक मंदी है, ऐसे में भारत पर ज्यादा संकट नहीं आए इसके लिए ताकतवर लोगों की जरूरत है, वो ताकत मोदी सरकार में दिखती है।

Share it
Top