कमलेश तिवारी हत्याकांड: हत्यारोपितों की गिरफ्तारी को लेकर समर्थकों का रोड जाम, बस, वाहनों में की तोड़फोड़, पीएसी तैनात, भगवा कपड़ो में सीसीटीवी में कैद हुए हत्यारे


- सभी दुकानों को व बाजार कराया बंद,

लखनऊ,। नाका थाना क्षेत्र में शुक्रवार को हिन्दू महासभा के नेता कमलेश तिवारी की दिनदहाड़े हत्या के बाद उनके समर्थकों ने रोड जाम कर दिया। बस व आसपास के वाहनों में तोड़फोड़ कर दी। बवाल को शांत कराने के लिए पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी पहुंचे। समर्थकों ने दुकानें बंद कराकर पुलिस के खिलाफ प्रदर्शन शुरु कर दिया। मांग है कि जब तक मुख्यमंत्री नहीं आते है उनका प्रदर्शन ऐसे ही चलता रहेगा। पुलिस कार्रवाई का भरोसा देकर आक्रोशितों को शांत कराने के प्रयास में जुटी हुई है। ऐतिहातन तौर पर भारी पुलिस, पीएसी को लगा दिया है।

शहर के खुर्शीदबाग इलाके में रहने वाले हिन्दू समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष कमलेश तिवारी की शुक्रवार दोपहर घर पर दो बदमाशों ने चाकू से गला रेतकर हत्या कर दी। बताया जा रहा है कि हत्यारे मिठाई के डिब्बे में चाकू और तमंचा लेकर आए थे। शरीर में चाकू के 15 से अधिक वार हैं। उधर कमलेश तिवारी की हत्याकांड से उनके समर्थकों में आक्रोश फैल गया है। कमलेश के समर्थकों ने अमीनाबाद, लाटूश रोड की सभी दुकानें व बाजार बंद करवा कर रोड जाम कर दिया है। समर्थक नारा लगा रहे है कि जब तक कमलेश के हत्यारों की गिरफ्तारी नहीं हो जाती है, तब तक उनका प्रदर्शन जारी रहेगा। समर्थकों ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को भी बुलाने की मांग की है। बवाल की सूचना पाकर मौके पर पहुंचे वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कलानिधि नैथानी ने प्रदर्शनकारियों को शांत कराने का प्रयास कर रहे हैं। एसएसपी का कहना है कि सीसीटीवी फुटेज के आधार पर हत्यारोपितों की तलाश की जा रही है। जल्द ही हत्यारोपितों को गिरफ्तार लिया जायेगा। कमलेश तिवारी हत्याकांड को लेकर जिलाधिकारी कौशलराज शर्मा ने बताया कि घटनास्थल से एक असलहा बरामद हुआ है, उसकी जांच की जा रही है। इलाके के आसपास लगे सभी सीसीटीवी फुटेज खंगाले जा रहे हैं। आरोपितों पर रासुका लगाने के निर्देश जारी कर दिए हैं।

हिन्दू जागरण मंच ने की निंदा

हिन्दू जागरण मंच के प्रदेश अध्यक्ष विजय बहादुर सिंह ने इस हत्याकांड की कठोर शब्दों में निंदा की है। उन्होंने योगी सरकार से अपील की है कि हत्यारों को जल्द से जल्द गिरफ्तार करें। इस दुखद घड़ी में हिन्दू जागरण मंच पीड़ित परिवार के साथ है।


Share it
Top