'सबका विकास' के मोदी सरकार के खोखले दावे की पोल खोलता है 'ग्लोबल हंगर इंडेक्स' : राहुल गांधी


नई दिल्ली । कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार को 'ग्लोबल हंगर इंडेक्स' में भारत के निचले पायदान पर रहने का मुद्दा उठाते हुए कहा है कि यह 'सबका विकास' के मोदी सरकार के खोखले दावे की पोल खोलता है।

राहुल गांधी ने इससे जुड़ा एक समाचार साझा करते हुए ट्वीटर पर कहा कि 'ग्लोबल हंगर इंडेक्स' में भारत 2014 से लगातार गिर रहा है और अब रैंकिंग 117 देशों में से 102 पायदान पर पहुंच गई है। इस रैंकिंग से सरकार की नीति में भारी असफलता का पता चलता है और मोदी के खोखले 'सबका साथ' के दावे की पोल खुल लग जाती है।

कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने भी इस रैकिंग पर सवाल खड़े किए हैं। उन्होंने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को राजनीति पर कम और देश के बच्चों पर ज्यादा ध्यान केंद्रित करना चाहिए। वह ही देश का भविष्य हैं। उन्होंने कहा कि ग्लोबल हंगर इंडेक्स (जीएचआई) में भारत फिसला है। 2010 में भारत की 95वीं रैंकिंग थी। 93 प्रतिशत बच्चों (6 से 23) को न्यूनतम स्वीकार्य आहार नहीं मिलता है।

उल्लेखीय है कि ग्लोबल हंगर रैकिंग के मुताबिक भारत विश्व के उन 117 देशों में 102वें नंबर पर जहां बच्चों की लंबाई के अनुसार वजन नहीं है, बाल मृत्यु दर ज्यादा है और बच्चे कुपोषित हैं। इसके मुताबिक भारत अपने पड़ोसी देशों पाकिस्तान, बांग्लादेश, नेपाल और श्रीलंका से भी पीछे है, जिनकी रैंकिंग क्रमश: 94, 88, 73 और 66 है।


Share it
Top