योगी आदित्यनाथ की एक और ठोस पहल, महिलाओं की योजनाओं पर ये महिला अफसर रखेंगी नजर

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने महिलाओं की शिक्षा, सुरक्षा व बेहतरी के लिए ठोस पहल की है। अब आधी आबादी से जुड़ी योजनाओं की निगरानी महिला अधिकारी करेंगी। इसके लिए सरकार ने तीन-तीन वरिष्ठ महिला अफसरों की टीम प्रत्येक जिले के लिए तैयार की है। इन टीमों में आइएएस, आइपीएस, पीसीएस, आइएफएस व पीपीएस अफसर शामिल की गई हैं। टीमें तीन दिन प्रवास कर विभिन्न योजनाओं का हाल-चाल लेंगी और सरकार को फीडबैक देंगी।

टीम में शामिल अधिकारियों को मुख्यमंत्री ने खुद नामित किया है। यह पहल महिलाओं के मन में सरकार के प्रति भरोसा दिलाने के लिए की गई है। महिला एवं बाल विकास विभाग की प्रमुख सचिव मोनिका एस गर्ग ने बताया कि नोडल अफसर महिलाओं व बालिकाओं के विरुद्ध होने वाले सभी भेदभाव को समाप्त करेंगी। हानिकारक प्रथाओं को समाप्त करने के साथ ही राजनीतिक, आर्थिक व लोकजीवन में निर्णय लेने के लिए महिलाओं का समर्थन करेंगी। प्रदेश सरकार मुख्यमंत्री सुमंगला योजना लांच करने जा रही है। इस योजना की निगरानी भी नोडल अफसर करेंगी।

प्रदेश सरकार ने लखनऊ में 1985 बैच की आइएएस अफसर अनीता भटनागर जैन को नोडल अफसर बनाया है। साथ ही 2013 बैच की आइएएस अपूर्वा दुबे व पीपीएस श्रेष्ठा को नोडल अफसर बनाया है। वाराणसी में आइएएस मनीषा त्रिघाटिया, आइपीएस चारू निगम व पीसीएस अफसर ज्योति मौर्या को नोडल अफसर बनाया है। गोरखपुर में आइएएस काजल, सुनीता सिंह व पीसीएस निष्ठा उपाध्याय को जिम्मेदारी दी गई है।

Share it
Top